छतीसगढ पुलिस को विरोध प्रदर्शन का हक़ है ,पुलिस पर पुलिस का दमन बन्द करें , यह राजद्रोह नहीं ,जीने योग्य सुविधाओं के लिये किये गये आंदोलन का समर्थन – पीयूसीएल छतीसगढ .

  23.06.2018 ,रायपुर . छत्तीसगढ़ में तृतीय श्रेणी के पुलिस कर्मियों के परिजनों ने अपनी रोजमर्रा की जरूरतों और अन्य शासकीय सेवकों के समक्ष वेतन भत्ते और समान सुविधाओं के लिए 25 जून को विरोध प्रदर्शन की घोषणा की थी ,यह प्रदर्शन संवैधानिक और कानून है ,परिजनों का विरोध पुलिस मैनुअल का भी उलंघन नहीं
Complete Reading

लोक स्वातंत्र्य संगठन (पी.यू.सी.एल) – छत्तीसगढ़ रायपुर, 20.06.2018 छत्तीसगढ़ पी.यू.सी.एल. ने महासमुंद में विधायक श्री विमल चोपड़ा और उनके समर्थकों पर बर्बर लाठी चालन कर उन्हें गंभीर रूप से घायल करने की कड़ी निंदा की है, और इस दमनात्मक कृत की न्यायिक जांच, संलिप्त पुलिस कर्मियों को जांच पूरी होने तक निलंबित करने, घायलों का
Complete Reading

  बिलासपुर / 7.5.2018   आज पत्रकारो से दिव्या जैसवाल, अधिवक्ता  ,  प्रियंका शुक्ला,अधिवक्ता,निकिता,अधिवक्ता , नन्द कश्यप, छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन और नीलोत्पल शुक्ल,PUCL ने चर्चा की . 3/05/2018 को पता चला कि शैलेन्द्र सिंह, ASI, सिविल लाइन्स, और उसकी पत्नी, शशि सिंह ( शिक्षिका,चकरभाठा) द्वारा लगभग 2 वर्ष पूर्व बीजापुर से एक आदिवासी लड़की को,जिसकी उम्र उस वक्त 16 वर्ष थी, अपने घर
Complete Reading

लोकस्वतंत्रय संघठन छतीसगढ ,{ पीयूसीएल संगठन छतीसगढ } 1मई 2018 रायपुर . ** वरिष्ठ पत्रकार कमल शुक्ल पर राष्ट्रद्रोह के फर्जी मुकदमे एवं “पत्थलगडी” के नाम पर दो वरिष्ठ आदिवासी बुद्धिजीवियों की गिरफ़्तारी की छत्तीसगढ़ लोक स्वातंत्र्य संगठन तीव्र निंदा करती है. देश और प्रदेश में लोकतान्त्रिक असहमति प्रकट करने के बुनियादी अधिकार पर बढ़
Complete Reading

1.04.2018 बिलासपुर  भारत के सर्वोच्च न्यायालय के दो न्यायधीशों ने 20 मार्च को एक प्रकरण में अपना निर्णय देते हुए, जिस प्रकार से वस्तुगत परिस्थितियों के विपरीत, “अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम, 1989” की व्याख्या की है, उससे पूरे देश में, और छत्तीसगढ़ में, दलित-आदिवासी समुदायों में भारी और स्वाभाविक आक्रोश प्रकट
Complete Reading

Bilaspur/ 13.12.2017 At the inauguration of the K G KANNABIRAN MEMORIAL LECTURE organized by the Chhattisgarh unit of the People’s Union for Civil Liberties (PUCL), Mrs. Vasanth Kannabiran remembered her husband with whom she had spent rich and fulfilling thirty years of her life in partnership. She recalled how K G Kannabiran worked for the
Complete Reading

छत्तीसगढ़ पीयूसीएल द्वारा अन्तराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस [10 दिसम्बर] के अवसर पर  के.जी.कन्नाबीरन स्मृति व्याख्यान का आयोजन किया जा रहा है। साथ ही, सामाजिक न्याय के संघर्ष के लिए समर्पित अधिवक्ताओं को सम्मानित किया जाना तय किया गया है। श्री कन्नाबीरन, आन्ध्र प्रदेश के े एक जाने माने अधिवक्ता एवं मानव अधिकार कार्यकर्ता थे। यह दिवस श्री
Complete Reading

1.12.2017 छत्तीसगढ़ पीयूसीएल द्वारा अन्तराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस [10 दिसम्बर] के अवसर पर  के.जी.कन्नाबीरन स्मृति व्याख्यान का आयोजन किया जा रहा है। साथ ही, सामाजिक न्याय के संघर्ष के लिए समर्पित अधिवक्ताओं को सम्मानित किया जाना तय किया गया है। श्री कन्नाबीरन, आन्ध्र प्रदेश के े एक जाने माने अधिवक्ता एवं मानव अधिकार कार्यकर्ता थे। यह दिवस
Complete Reading

?? ANNOUNCING 7.11.2017 ** Born: November 9, 1929, Madurai ; Died: December 30, 2010, Hyderabad ** The CHHATTISGARH PEOPLE’S UNION FOR CIVIL LIBERTIES (CG PUCL) has set up the KG KANNABIRAN MEMORIAL AWARD (FOR LEGAL ACTIVISM IN HUMAN RIGHTS) to carry on the brave and bold tradition of K G Kannabiran in challenging the combined might of an authoritarian
Complete Reading

  टिप्पणी और ऑब्जर्वेशन ** आयोग को उपलब्ध तथ्यों से ऐसा लगता है कि वर्ष २००७ में कोंडासावली, कमराजुड़ा और कररेपाड़ा गांवों में घरों को जलाने की घटना और सात गांववाले की हत्या हुई थी। कलेक्टर, सुकमा और पुलिस अधीक्षक, सुक्मा के अनुसार, इस घटना के सम्बन्ध में कोई भी मामला इसलिए पंजीकृत नहीं किया
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account