रायपुर. सुर और ताल के मुरीदों के शहर रायपुर में यूं तो हर रोज संगीत का कोई न कोई कार्यक्रम होते रहता है, मगर चंद कार्यक्रम ही ऐसा होता है जिसका असर लंबे समय तक कायम रहता है. जेहन में बस जाने वाला एक ऐसा ही कार्यक्रम 2 सितम्बर को […]

अंजन कुमार , अपना मोर्चा .काम केे लियेे .. पिछले कई वर्षों से छत्तीसगढ़ी सिनेमा संस्कृति के नाम पर बम्बईया छाप फिल्म की नकल ही कर रही है। इन फिल्मों में कुछ नया या मौलिक काम देखने को नहीं मिलता। घोर व्यवसायिक मानसिकता और सस्ती लोकप्रियता की आत्ममुग्धता में लीन […]

राजकुमार सोनी ,अपना मोर्चा . काम के लिये .. आज हरेली तिहार है…और अभी थोड़ी देर पहले ही नाचा के जनक दाऊ मंदराजी के जीवन पर बनी एक बेहतर फिल्म देखकर लौटा हूं. हालांकि यह फिल्म मुझे उसी रोज देख लेनी चाहिए थीं जिस रोज प्रदर्शित हुई थीं, लेकिन तब […]

अपना मोर्चा .काम से आभार सहित .. देश के प्रसिद्ध कथाकार कैलाश बनवासी बता रहे हैं कि हंस झन पगली फंस जबे… एक मुनाफा बटोरने वाली फिल्म तो है, लेकिन इसका छत्तीसगढ़ के कठोर यथार्थ से जरा भी लेना-देना नहीं है. यह एक घोर यथास्थितिवादी फिल्म है. फिल्म को लेकर कैलाश […]

राजकुमार सोनी ,वरिष्ठ पत्रकार छत्तीसगढ़ के भिलाई में एक पेड़ा बेचने वाला बूढ़ा था. सफेद पैन्ट-सफेद शर्ट, सिर पर सफेद टोपी. बिल्कुल राजकपूर वाली. हाथ में छड़ी और कंधे पर टिन का डिब्बा. डिब्बे में लगा सुंदर सा कांच और कांच के भीतर से झांकते हुए पेड़े. यह बूढ़ा जब […]

राजकुमार सोनी, वरिष्ठ पत्रकार छत्तीसगढ़ के भिलाई में एक पेड़ा बेचने वाला बूढ़ा था. सफेद पैन्ट-सफेद शर्ट, सिर पर सफेद टोपी. बिल्कुल राजकपूर वाली. हाथ में छड़ी और कंधे पर टिन का डिब्बा. डिब्बे में लगा सुंदर सा कांच और कांच के भीतर से झांकते हुए पेड़े. यह बूढ़ा जब […]

अगर आप इस पोस्ट को पढ़ने की ताकत और हिम्मत जुटा रहे हैं तो प्लीज इस पोस्ट के साथ टैंग किए गए वीडियो को भी देखने की जहमत अवश्य उठाइएगा. हमारे जमाने में- मौसम है गाने का…गाने का बजाने का… हंसने का हंसाने का…ये जीवन ये दुनिया सपना है दीवाने […]

बैलबाटम वरिष्ठ पत्रकार राजकुमार सोनी क्या आपने कभी बैलबाटम को पहना है. यह फैशन भारत में कब आया इस बारे में कोई एक राय नहीं है. कोई कहता है कि हिप्पियों की वजह से यह फैशन भारत पहुंचा था तो किसी का कहना है देवानंद, राजेश खन्ना और अभिताभ बच्चन […]

राजकुमार सोनी ,वरिष्ठ पत्रकार राजेश खन्ना के ढलान और अभिताभ बच्चन के उठान युग में धीरे-धीरे मेरी हाइट बढ़ रही थी. अक्सर दोस्तों और भाइयों के बीच इस बात को लेकर झगड़ा हो जाता था कि कौन श्रेष्ठ है.बहुत से लोग राजेश खन्ना को श्रेष्ठ मानते थे और कुछ दोस्तों […]

पिछले दिनों से आप लगातार पढ रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार राजकुमार सोनी के स्मरण तो आज प्रस्तुत हैं कुछ अनोखे अंदाज में रुमाल ,स्वेटर और बंद तोते … क्या आपको कभी किसी लड़की ने फूल से कढ़ा रुमाल तोहफे में दिया है. चलिए रुमाल न सही… क्या आपको कभी प्रेमिका […]

Breaking News