भारतीय जन नाट्य संघ इप्टा की छत्तीसगढ़ ने की शान्ति एवं एकजुटता समिति के महासचिव नंद कश्यप और परिजनों पर हमले की निंदा .

भारतीय जन नाट्य संघ इप्टा की छत्तीसगढ़ इकाई बिलासपुर में शान्ति एवं एकजुटता समिति के महासचिव नंद कश्यप और उनके बेटे तथा परिवार के अन्य सदस्यों पर 15-20 लोगों द्वारा किये गये हमले की तीव्र निंदा करती है। शांति एवं एकजुटता समिति के महासचिव होने के अतिरिक्त नंद कश्यप माकपा Continue Reading

दोषियों को तुरंत गिरफ्तार कर नंद कश्यप और उनके परिवार को पूरी सुरक्षा प्रदान करे. : अखिल भारतीय शांति एवं एकजुटता समिति की छत्तीसगढ़ .

अखिल भारतीय शांति एवं एकजुटता समिति की छत्तीसगढ़ इकाई बिलासपुर में समिति के महासचिव नंद कश्यप और उनके बेटे तथा परिवार के अन्य सदस्यों पर 15-20 लोगों द्वारा किये गये हमले की तीव्र निंदा करती है। शांति एवं एकजुटता समिति के महासचिव होने के अतिरिक्त नंद कश्यप माकपा जिला कमेटी Continue Reading

टाईम ने ईदी अमीन पर भी दो अंक निकाले थे एक तारीफ में और दुसरा आदमखोर के रूप में और अब …

नंद कश्यप ,राजनैतिक विश्लेषक कुछ लोग होंगे जिन्हें अगस्त 1972 याद होगा। युगांडा के राष्ट्रपति ईदी अमीन ने भारतीय मूल के 75 हजार लोगों को तुरंत देश छोड़ने का आदेश दे दिया था। इनमें से 20000 से अधिक लोग ब्रिटिश पासपोर्ट धारी थे।इस संबंध में थोड़ा ईदी अमीन के बारे Continue Reading

जेएनयू : जब श्रीमती इंन्दिरा गांधी खुद ज्ञापन लेने पहुचीं और अगले दिन दिया चांसलर पद से स्तीफ़ा .

नंद कश्यप की वाल से  भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में 2014 तक के सारे प्रधानमंत्री भारतीय संविधान धर्मनिरपेक्षता और लोकतंत्र के लिए प्रतिबद्ध रहें हैं। एक परिस्थिति में श्रीमती इंदिरा गांधी ने भले ही आपातकाल लागू किया था परंतु उन्होंने अपने विरोधियों से हमेशा शालीन व्यवहार किया है। शायद ही Continue Reading

इस विशाल देश को 130 करोड़ जनता चलाती है।उसे किसी राजा या तानाशाह की जरूरत नहीं है

नंद कश्यप  लगभग सारे चैनल एक बात को खास तौर पर रेखांकित कर रहे हैं वह यह कि विपक्ष के पास चेहरा नहीं है।यह भी मतदाता पर एक मनोवैज्ञानिक हमला है।हम प्रतिनिधि लोकतांत्रिक व्यवस्था में हैं जहां सांसद प्रधानमंत्री चुनते हैं। आर्थिक सांस्कृतिक भौगोलिक विविधताओं से संपन्न इस विशाल देश Continue Reading

भाजपाई प्रवक्ताओं प्रत्याशियों के लगभग विक्षिप्त प्रलाप ‘ :. नंद कश्यप

1.11.2018 भाजपाई प्रवक्ताओं प्रत्याशियों के लगभग विक्षिप्त प्रलाप यह बतला रहे कि आरएसएस और भाजपा को कभी समर्थन करने वाले लोग भी अब उससे किनारा करने लगे हैं ठीक “दूर के ढोल सुहावने लगते हैं” कहावत की तरह पहले भाजपा के ही वरिष्ठ नेता सांसद जिसमें अरुण शौरी यशवंत सिन्हा Continue Reading

दिल्ली सरकार का न्यूनयम मजदूरी का आदेश हाईकोर्ट ने रोका . हाईकोर्ट की बात का एक ही अर्थ है कि पूंजीवादी समाज मे मालिकों की मर्जी से किया गया फैसला ही प्राकृतिक न्याय और संविधान सम्मत है .ः नंद कश्यप

7.08.2018 भारत के प्रधानमंत्री द्वारा खुलेआम कारपोरेट के साथ प्रतिबद्धता ने दिल्ली के सबसे निचले पायदान के मेहनतकशों से उनकी न्यूनतम मजदूरी छीना दिल्ली उच्च न्यायालय का फैसला उसी बयान से प्रभावित है. जब पूंजीवादी व्यवस्था की बात आती है तो व्यवस्था का पोषण चारो अंग करते हैं, सरकार, नौकरशाही,न्याय Continue Reading

मिथकों को मुक्ति का हथियार तो बनाएं लेकिन उसको इतिहास न बनाएं या समझें.- नन्द कश्यप

** नंद कश्यप अब तो सारे विश्लेषक कह रहे, मोदी सरकार के तीन साल देश के जरूरतमंदों, बेरोजगारों, किसानों और असंगठित मजदूरों , कुटीर शिल्प आधारित उद्योग छोटे व्यापारियों,लघु एवं मध्यम उद्योग के लिए विनाशकारी रहा है,कोई फला फूला है तो वो विदेशों से सूचना प्रौद्योगिकी लाकर देश में बेचने Continue Reading