क्या महार जाति वाद मिटाने के लिए लड़े थे : आनंद तेलतुंबड़े

9.01.2018 तय है कि ईस्ट इंडिया कंपनी ने अपने सैन्य मंसूबे पूरा करने की ठानी तो बेहिसाब संख्या में दलितों को सेना में भर्ती कर लिया। शायद दलित सैनिकों की अटूट निष्ठा और स्वामिभक्ति देखकर। संभवत: इसलिए भी कि वे सस्ते में मिल जाते थे। उस दौर में सेना में Continue Reading

कोरेगांव विजय उत्सव पर मनुवादियों का हमला , दुकानें पहले से की थी बन्द ,कर्फ़्यू ,एक की मौत – श्रेयांत की आँखों देखी रिपोर्ट .

क्या हुआ कोरेगांव में. श्रेयांत की आँखों देखी रिपोर्ट दिनांक 1 जनवरी 2018 को हम लोग, कोरेगांव विजय के 200 वर्ष पूरे होने की विजय मनाने और सैनिकों को नमन करने मुम्बई से निकले। मुम्बई से जिस बस से हम लोग निकले वह उत्तर प्रदेश से यहाँ जीविका कमाने आये Continue Reading

कोरेगांव युद्ध के दो सौ साल (कँवल भारती)

कोरेगांव युद्ध के दो सौ साल (कँवल भारती) डा. बाबासाहेब आंबेडकर लिखते हैं— भारत को अंग्रेजों ने 1757 और 1818 के बीच जीता था. 1757 का युद्ध ईस्ट इंडिया कम्पनी की सेना और बंगाल के नवाब सिराजुद्दौला के बीच लड़ा गया था. इसमें कम्पनी सेना की जीत हुई थी. इतिहास Continue Reading

जानिये क्‍यो जरूरी है? भीमा कोरेगांव को याद रखना. – संजीव खुदशाह

भीमा कोरेगाव की घटना के 1 जनवरी २०१८ को २०० वर्ष पूरे होने पर विशेष लेख. 1 जनवरी 2018 भीमा कोरेगांव आज एक तीर्थ बन चुका है। लेकिन क्‍या आपको मालूम है इसे तीर्थ बनाने में लोगो ने अपने जान की बाजी लगा दी। यह समय था आज से लगभग Continue Reading