स्त्रियों की प्रेम कविताओं के बारे में एक अप्रिय, कटु यथार्थवादी कविता ःः कविता कृष्णपल्लवी

  (27-28 नवम्बर, 2018) आम तौर पर स्त्रियाँ जब प्रेम कविताएँ लिखती हैं तो ज़्यादातर, वे भावुकता से लबरेज और बनावटी होती हैं क्योंकि उनमें वे सारी बातें नहीं होती हैं जो वे लिख देना चाहती हैं और लिखकर हल्का हो लेना चाहती हैं | इसलिए प्रेम कविताएँ लिखने के Continue Reading