ये पत्थर नहीं, बेरहमी से मार दिए गए आदिवासी हैं : कमल शुक्ला

  पत्थलगड़ी आदिवासियों की गरिमा, अस्मिता और प्रतिरोध का आंदोलन बन चुका है। पुलिस की गोली के शिकार आदिवासी युवाओं, बच्चों और महिलाओं की स्मृति को जीवित रखने के लिए आदिवासी समाज पत्थर गाड़ कर उनकी स्मृतियां उकेर देता है, ऐसे ही कुछ मार्मिक स्मृति स्तम्भों के बारे में बता रहे हैं, बस्तर से कमल
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account