नौकरी में आजादी तलाशते अख़बारनवीश ःः राजनैतिक गलियारों में दो पत्रकार # उत्तम कुमार, सम्पादक दक्षिण कोसल

14.10.2018 छत्तीसगढ़ में दो अख़बारनवीश सुर्खियों में हैं । मजे की बात यह है कि सुर्खियां बनानेवाले इस बार आसन्न चुनाव के पहले सुर्खियों में हैं । पत्रकार राजकुमार सोनी और सम्पादक रुचिर गर्ग को लेकर मुख्यधारा की मीडिया से ज्यादा सोशल मीडिया में चार्चाओं का बाज़ार गर्म है। जो लोग सुर्खियां बनाया करते थे
Complete Reading

10.10.2018 छत्तीसगढ़ में स्थित एशिया के सबसे बड़े इस्पात संयंत्र के भिलाई स्टील प्लांट के ब्लास्ट फर्नेस 8 से कोक ओवन बैटरी नंबर 11 के बीच ई एंड डी द्वारा गैस पाइप लाइप में मरम्मत के दौरान हुए भयानक विस्फोट में जुटे पहले 9 फिर 13 और अब फाइनली 12 लोगों की मौत बताई जा
Complete Reading

क्या बीएनसी मिल पर उनकी योजनाओं को पुरस्कृत किया गया था !!! ** 1908 में ब्रिटिश साम्राज्यवाद के खिलाफ लडऩे वाले बाल गंगाधर तिलक की गिरफ्तारी पर बीएनसी मिल के मजदूरों ने हड़ताल की थी। 1923 में चर्चित ठॉ. प्यारेलाल सिंह के नेतृत्व में 6 माह तक यहां लंबी हड़ताल चली। मजदूरों ने जब अधिकार
Complete Reading

20.09.2018| दिल्ली  हम जब तक ज़िंदा रहेंगे लड़ते रहेंगे , सोनी सोरी

3.09.2018 केन्द्र सरकार और खनिज धनी राज्यों के बीच, इस्पात निर्माताओं और आयरन ओर खनिजों और निर्यातकों के बीच अढ़ाई साल की खींचतान के बाद अप्रैल 2008 के पूर्वार्ध में भारत ने एक नई राष्ट्रीय खनिज नीति की घोषणा की। जिसमें निजी स्वामित्व वाले, बड़े पैमाने के मशीनीकृत खनन को प्रोत्साहित करेगी। जिसमें बहुराष्ट्रीय कंपनियों
Complete Reading

30.08.2018 28 तारीख को सबेरे छापेमारी के बाद जो लोग गिरफ़्तार किए गए, उनमें फ़रीदाबाद से सुधा भारद्वाज, हैदराबाद से वरवर राव, मुंबई में वरनॉन गोंज़ाल्विस और अरुण फ़रेरा और नई दिल्ली में गौतम नवलखा शामिल हैं | रांची में स्टैन स्वामी और गोवा में आनंद तेलतुबड़े के घर पर भी छापा मारा गया |
Complete Reading

16.08.2018 छत्तीसगढ़ के राज्यपाल तथा पूर्व प्रधानमंत्री के ना रहने के बीच मैं सबसे ज्यादा नुलकातोंड मुठभेड़ को लेकर चिंतित हूं | कथित मुठभेड़ स्थल में हम चौबीस घंटे रहे। बड़े टीवी चैनलों और अखबार ने नुलकातोंग में नक्सलियों के खात्मे का जो खबर चलाया है वह गलत है और इस बीच सुरक्षा बलों की
Complete Reading

9.अगस्त 2018 पत्रकार लिंगाराम कोडोपी का माने तो बीते दिनों पुलिस ने जिन 15 आदिवासियों को सुकमा में मुठभेड़ में मौत के घाट उतारने की बात की है वह गलत है | आदिवासी नेत्री सोनी सोरी ने भी इसे गलत ठहराते हुए ग्रामीणों से चर्चा करता वीडियो सोसल मीडिया में वायरल किया तथा अखबारों में
Complete Reading

4.08.2018 सोशल मीडिया में जो खबरे छन कर आ रही है उसे यदि सही माना जाए तो पत्रकारिता देश में संकट के चरम सीमा से होकर गुजर रही है। प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया लगभग सरकार से सवाल करने से बच रहे हैं या फिर एन-केन-प्रकारेण बगले झांकने में लगे हैं। और तो और सम्पादकीय विभाग
Complete Reading

1.08.2018  तिथि सही सही याद नहीं वह अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार पहली बार साल 1997 तथा दूसरी बार 2005 में उनसे मुलाकात संभव हो पाया था | दूसरी बार दिसम्बर के ठिठुरन भरे दिन में मैंने निरंजन महावर अर्थात भारत के वेरियर एलविन से अर्थात मेरी उनसे आदिवासियों से जुड़े विविध पहलुओं पर बात हुई
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account