यही निज़ाम हैं तुम्हारा . जहाँ एक महिला अपने से हुई ज्यादती बयाँ नहीं कर सकती .

यही निज़ाम हैं तुम्हारा . जहाँ एक  महिला अपने से हुई  ज्यादती बयाँ नहीं कर सकती . हवश की शिकार लड़की  को कहना पडे की नहीं मेरे साथ कुछ नही हुआ . धिक्कार  है  ऐसी सरकार और उसके पहरेदार हमलावर सेना को . सुनो कान खोलकर , तुम्हारे अत्याचार तुम्हे ले  ही डूबेंगे एक दिन
Complete Reading

कोई मुझे बतायेगा कि  इन्हें क्या करना  चाहिये ? जो हथियार उठायें है उनकी खूब आलोचना कर लीजिए ,लेकिन उनकी आड़ में इन्हें अकेला मत छोड़िए ,यह पूरी नस्ल संकट में है . ** दूर बैठकर शांति और लोकतंत्र की बात करनी आसान है ,यह कहना भी आसान है की न्याय का शासन  है,कोर्ट कचहरी
Complete Reading

भगत सिंह की ज़िंदगी के वे आख़िरी 12 घंटे रेहान फ़ज़लबीबीसी संवाददाता 23 मार्च 2017 साझा कीजिए Image captionवर्ष 1927 में पहली बार गिरफ़्तारी के बाद जेल में खींची गई भगत सिंह की फ़ोटो (तस्वीर चमन लाल ने उपलब्ध करवाई है) लाहौर सेंट्रल जेल में 23 मार्च, 1931 की शुरुआत किसी और दिन की तरह
Complete Reading

*दैनिक ‘छत्तीसगढ़’ का संपादकीय* 23 मार्च 2017 *मोहब्बत से नफरत का एजेंडा, पराजित होता भारतीय लोकतंत्र* उत्तरप्रदेश में नई योगी सरकार ने अपनी पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र और आमसभाओं में किए गए वायदे के मुताबिक पुलिस के रोमियो दस्ते बनाए हैं जो कि लड़कियों को छेडख़ानी और प्रताडऩा से बचाने का काम करेंगे। इस
Complete Reading

हां  हमें डरना चाहिए . जरूर डरना चाहिए . लेकिन इसके लिये यदि समय रहते क  कुछ नही किया तो बहुत देर हो चुकी होगी . ** यूपी में भाजपा का प्रचंड बहुमत डराने वाला है . इससे देश के बड़े समुदाय ,दूसरे धर्म को मानने वाले और वचिंत वर्ण के लोग सहमे हुये है,.
Complete Reading

शरद पवार के सपनो की बदरंग सिटी  लवासा . *** सुनसान ,बेरंग ओर भुतिहा लवासा सिटी पुणे . *** आप भी शायद कभी गये होंगे  पूणे  डेड़ घंटे की  दुरी पर शरद पवार ने बसायी हैं लवासा  सिटी . हाँ ,वही शरद पवार जिन्हें  पदमविभूषण सम्मान मिलने की चर्चा थी  और केंद्र ,राज्य में कई
Complete Reading

फिर भी हम गद्दार ही कहे गये …  ** मेरे एक मित्र है ,नाम है  उनका मोहम्मद हमीद उल्ला, वे नेट फेसबुक जैसे सोशल मीडिया से कोसों दूर है हम दोनों ने पोस्ट ग्रेजुएशन साथ साथ ग्वालियर साईस काँलेज से किया है . जीवन के अठारह बीस साल साथ पढे लिखे और मस्ती की ,हमने
Complete Reading

संस्कृति के रक्षकों कहो- किसकी रोटी में किसका लहू है? विप्‍लव राही भारतीय संस्कृति अक्सर खतरे में पड़ जाती है। और फिर उसे बचाने के लिए बहुत से लोग कमर कसने लगते हैं। लेकिन संस्कृति है कि फिर से खतरे में पड़ जाती है….अपनी इस महान संस्कृति को कभी सविता भाभी खतरे में डाल देती
Complete Reading

रेप की भाषा में संवाद की वैचारिकी बादल सरोज 🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴🔴 अपने हिस्से की बहादुरी दिखाकर गुरमेहर कौर दिल्ली छोड़ गयीं हैं !! आज गुरमेहर कौर हैं, कल कोई और होंगी. आज उनका एक कथन है, कल किसी का कुछ और बोलना होगा,या जो न बोला गया हो उसे ही बोला हुआ बता दिया जाए,यह भी
Complete Reading

अगर आज चुप रहे तो आने वाली नस्लें नही बोल पाएगी…… एबीवीपी व दिल्ली पुलिस के खिलाफ कल 11 बजे, 23 February अधिक से अधिक संख्या में दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर ITO पहुंचे। आज डीयू में जो कुछ हुआ वो विभत्स और भयानक था। आज की घटना दिखाती है कि फासिस्ट ताकतें किस तरह से नंगा
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account