भोपाल में बुद्धिजीवी दंपत्ति को नक्सल के आरोप में एटीएस ने किया गिरफ्तार .झूठी कहानी बनाई पुलिस ने .राजकीय दमन का एक और नमूना.

भोपाल मेंं कल यूपी एटीएस ने एक निर्दोष दंपत्ति को नक्सल लिंक बता कर गिरफ्तार कर लिया .मनीष श्रीवास्तव और अमिता श्रीवास्तव भोपाल में लेखन ,अनुवाद का काम करते रहे है अमिता शिक्षण का काम करती रहीं है. और कहानीकार और गायिका हैं. मनीष श्रीवास्तव की बहन और सामाजिक कार्यकर्ता Continue Reading

रायपुर : छत्तीसगढ़ सरकार ने बढ़ाया डीएमएफ से किए जाने वाले कार्यों का दायरा .

शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, रोजगार, पोषाहार, खाद्य प्रसंस्करण और संस्कृति संरक्षण के साथ अधोसंरचना विकास के कार्य किए जा सकेंगे प्रभावितों को शिक्षा और रोजगार के मिलेंगे बेहतर अवसर, कार्यों की प्रभावी निगरानी के लिए बनेगा राज्य स्तरीय प्रकोष्ठ. छत्तीसगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास नियम में हुआ संशोधन. रायपुर. 09 जुलाई Continue Reading

एक गोंड गांव में जीवन: वेरियर एल्विन

शामराव द्वितीय गोलमेज सम्मेलन में भाग लेने जब गांधी जी इंग्लैंड जा रहें थे, तब उसी जहाज में थे। गांधी जी से प्रभावित होकर वे उन्ही के साथ इंग्लैंड से वापस आ गए और कांग्रेस से जुड़ गए। डायरी में शामराव मुख्यतः चिकित्सक की भूमिका में अधिक दिखाई देते हैं। Continue Reading

ओडिशा का पेट भरती है, इंद्रावती बस्तर आ कर मरती है.

राजीव रंजन प्रसाद बस्तर पठार को अब मानसून सरोबार करने लगा है। चित्रकोट जलप्रपात अपने उफान पर आ गया है अत: यह भुला दिया गया है कि इंद्रावती नदी विलुप्तीकरण के भयावह खतरे से गुजर रही है। बस्तर का दुर्भाग्य यह है कि इस अंचल का सारा विमर्श नक्सलवाद पर Continue Reading

गहरे वैचारिक संघर्ष के मूड़ में राहुल गांधी .

जगदीश्वर चतुर्वेदी हमने 2019 के चुनाव में एक राजनीतिक पार्टी का सामना नहीं किया बल्कि, हमने भारत सरकार की पूरी मशीनरी के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ी, हर संस्था को विपक्ष के ख़िलाफ़ इस्तेमाल किया गया था. ये बात अब बिल्कुल साफ़ है कि भारत की संस्थाओं की जिस निष्पक्षता की हम Continue Reading

17.महिलाओं के मंदिर – प्रवेश पर केन्द्रित अंधविश्वास क्या उचित है ? संदर्भ : धर्म और जाति संबंधी दृष्टिकोण पर पुनर्विचार – नरेन्द्र दाभोलकर.

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश आंदोलन का फाईल फोटो. संविधान द्वारा प्रदत्त स्त्री – पुरूष समानता पर बात शुरू करते हुए डॉ . नरेन्द्र दाभोलकर ने कहा कि , हमें ध्यान देना होगा कि , भारतीय संविधान द्वारा लोगों को प्रदत्त अधिकारों को नकारा न जाए । हम इस Continue Reading

हरी भरी सी अरपा ….

हां ,आजकल अरपा के मिज़ाज कुछ बदले बदले से है. हांलाकि भरी बरसात में भी पूरे यौवन पर तो नहीं हैं ,फिर भी जो अरपा से प्रेम करते है उन्हें थोडा़ संतोष हो सकता हैं कि अरपा हरी भरी सी दिख रही हैं.हमें सूखी सूखी देखते रहने की आदत हैं Continue Reading

18. मसाला चाय कार्यक्रम में आज सुनिए कवि अंशु मालवीय की कुछ कविताएं. – अनुज

मसाला चाय कार्यक्रम में आज सुनिए कवि अंशु मालवीय की कुछ कविताएं। कवियों के दरबारी होते जाने वाले इस दौर में अंशु मालवीय जैसे कुछ ही कुछ कवि हैं जो सत्ता को आइना दिखाने की ज़िम्मेदारी तन के निभा रहे हैं। अनुज श्रीवास्तव ने मुबंई में.मसाला चाय की श्रंखला प्रारंभ Continue Reading