पटाखों से झुलसे लोगों के लिए नि:शुल्क नेत्र शिविर , पटाखों को सावधानी से चलावें – डॉ. दिनेश मिश्र

लापरवाही से अंधत्व का खतरा 17.10.2017 नगर के वरिष्ठ नेत्र एवं कॉन्टेक्ट लेंस विशेषज्ञ डॉ. दिनेश मिश्र द्वारा इस वर्ष भी दीवाली में पटाखों से आंखों में लगी चोटों के नि:शुल्क परीक्षण एवं उपचार के लिए दो दिवसीय नि:शुल्क नेत्र शिविर लगाया जा रहा है। यह शिविर डॉ. दिनेश मिश्र के फूलचैक स्थित रायपुर नेत्र
Complete Reading

जादू-टोने का अस्तित्व नहीें — डॉ. दिनेश मिश्र पी.टी.एस. माना में व्याख्यान समाज में वैज्ञानिक जागरूकता के विकास से विभिन्न अंधविश्वासों व कुरीतियों का निर्मूलन संभव है। व्यक्ति को अपनी असफलता का दोष ग्रह-नक्षत्रों पर न थोपने की बजाय स्वयं की खामियों पर विश्लेषण करना चाहिए। उक्त विचार पुलिस ट्रेनिंग स्कूल माना में आयोजित व्याख्यान
Complete Reading

यह टी वी पर हंगामेदार बहस का हिस्सा है, विषय है की क्या मुस्लमान महिलाऐं ‘क़ाज़ी’ बन सकती हैं? डिबेट में शामिल मौलानाओं को ऐतराज़ है की मुस्लमान औरतों को क़ाज़ी बनने का सपना नहीं पालना चाहिए. टीवी स्टूडियो में एक निहायत खुदगर्ज़ और मर्दवादी मौलाना साजिद से मेरा टकराव हो जाता है, मैंने सवाल
Complete Reading

14 साल की नाबालिग लड़की के साथ बीएसएफ जवानों ने सामूहिक बलात्कार किया, प्रशासनिक कार्यवाही अब तक शून्य, ग्रामीणों में आक्रोश, केन्द्र और छत्तीसगढ़ सरकार ऐसे कर रही नक्सली उन्मूलन , पिछले 24 घण्टे से जगदलपुर-विशाखपट्नम रेल और सड़क मार्ग बाधित। ग्रामीणों ने किया है मार्ग बंद।

रायपुर में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का विशाल प्रदर्शन . दस सूत्रीय मांगों के लिए . रायपुर ,11 अक्टुम्बर * आज रायपुर के बूढा तालाब धरना स्थल पर हजारों की संख्या में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया ,. सहायिका संयुक्त संघर्ष समिति के नेतृत्व में प्रगतिशील आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ, छत्तीसगढ़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता
Complete Reading

11.10.2017 (पत्रिका ) 2007 से जेल में बंद पदमक्का को आज जगदलपुर जेल से रिहा कर दिया गया, रिहा होने के बाद उन्होंने कहा कि छत्तीगढ़ पुलिस ने उसके खिलाफ 10 झूठे मामले बनाये और 10 साल जेल में रखा .एक भी मामले में उसे दोषी नही पाया गया ,पदमक्का ने यह भी कहा कि
Complete Reading

तामेश्वर सिन्हा  बस्तर प्रहरी से  आभार सहित  प्रशासन की दोहरे कार्यवाही व विकास से त्रस्त कावापाल के आदिवासी अब संविधान की लड़ाई के मूड में कावापाल के सरपंच,माटी पुजारी,सिरहा व 6स्कूली बच्चो सहित 56 आदिवासी जेल में क्योकि इन्होने भाजपा राज में विकास करने की जहमत उठाई बस्तर – बस्तर संभाग के तहत बस्तर जिले के अंतर्गत ग्राम
Complete Reading

11.10.2017 सुकमा में आज बुर्कापाल , तोड़का, ताड़मेटला , और दावेली के बडी संख्या में आदिवासी और आप नेता सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी ने प्रेस के सामने अपनी व्यथा व्यक्त की . बुर्कापाल की अनिता ने बताया कि 10 मार्च को उसके पिता दुला माड़वी को नक्सली हत्या कर दिये थे ,पूरा परिवार नक्सल पीड़ित
Complete Reading

जन चौक  से आभार  सहित स्पेशल रिपोर्ट , बस्तर, सोमवार , 09-10-2017 तामेश्वर सिन्हा   बस्तर (छत्तीसगढ़)। बस्तर संभाग के तहत बस्तर जिले का जगदलपुर विकासखंड का गांव कावापाल इन दिनों अखबारों की सुर्खियों में है। कावापाल के सरपंच, माटी पुजारी, सिरहा व 6 स्कूली बच्चों सहित 56 आदिवासी जेल में हैं। ये आदिवासी जेल में इसलिए हैं क्योंकि इन्होंने विकास की  जहमत उठाई। जी हां,
Complete Reading

Friday, September 15, 2017 If that’s got you eager to read Rinchin’s books, do visit our website. Tulika Publishers at 2:55 PM Q and A with Rinchin As we told you in the previous post, we are intrigued with Rinchin’s storytelling technique and the way she weaves the story and its social, political, cultural and environmental issues into a fine
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account