आप के 13 सूत्रीय वादों को पूरा करने का शपथ पत्र जारी किया, पूर्ण शराबबन्दी, हर गांव में स्कूल एवम ग्राम क्लीनिक, किसानों से 2600 रु में धान खरीदी, आदिवासी क्षेत्रों में पांचवी अनुसूची लागू करने की शपथ.

12.09.2018 / रायपुर आज आम आदमी पार्टी ने  राज्य स्तर पर 13 सूत्रीय  प्रमुख वादों को पूरा करने का स्टाम्प पेपर में पब्लिक नोटरी से प्रमाणित शपथ पत्र जारी किया है । इसके साथ ही प्रत्येक विधानसभा  कि स्थानीय समस्याओं का निराकरण करते हुए  विधानसभा वार शपथ पत्र जारी किया Continue Reading

राजनांदगांव के किसान 14 से करेंगे पदयात्रा, 17 को रायपुर पहुंचकर करेंगे आमसभा, सौंपेंगे ज्ञापन

12.09.2018 / राजनांदगांव  राजनांदगांव के सैकड़ों अपनी विभिन्न मांगों को लेकर किसान जिला किसान संघ के झंडे तले 14 सितम्बर से राजनांदगांव से पदयात्रा शुरू करेंगे और 17 सितम्बर को रायपुर पहुंचकर आमसभा करेंगे और मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपेंगे. किसान संघ के नेता सुदेश टीकम, मदन साहू, चंदू साहू आदि Continue Reading

बिलासपुर : आम हडताल के समर्थन मे वाम दलों ने नेहरू चौक पर दिया धरना और किया प्रदर्शन .शहर रहा पूरी तरह बंद .आम हडताल और भारत बंद को अभूतपूर्व समर्थन .

  11 सितंबर 2018/ बिलासपुर वामदलों सपा डीएमके कांग्रेस सहित देश की प्रमुख राजनीतिक पार्टियों द्वारा आयोजित राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल के तहत बिलासपुर में वामदलों ने नेहरू चौक में धरना प्रदर्शन कर धरना दिया,शहर बंद है आम जनता मोदी और रमन सरकार की जनविरोधी नीतियों से परेशन है,इसका द्योतक है Continue Reading

लोकतांत्रिक परंपरा को बनाए रखने और जनता की बेहतरी के लिए 10 सितंबर आम हड़ताल को सफल बनाएं. : वामपंथी पार्टीयां बिलासपुर

8.09.2018. बिलासपुर  आज देश बेहद अराजक दौर से गुजर रहा है , भाजपा शासित केंद्र और राज्य सरकारें एक ओर चुनाव जीतने नित नए हथकंडे अपना रही है वहीं दूसरी ओर वो आम मेहनतकश किसानों मजदूरों छोटे व्यापारियों की जेब काट रहीं हैं ,न ही रोजगार पैदा हुए और न Continue Reading

राजनांदगांव के किसान 14 से करेंगे पदयात्रा, 17 को रायपुर पहुंचकर करेंगे आमसभा, सौंपेंगे ज्ञापन

  राजनांदगांव , 8.09.2018 राजनांदगांव के सैकड़ों अपनी विभिन्न मांगों को लेकर किसान जिला किसान संघ के झंडे तले 14 सितम्बर से राजनांदगांव से पदयात्रा शुरू करेंगे और 17 सितम्बर को रायपुर पहुंचकर आमसभा करेंगे और मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपेंगे. किसान संघ के नेता सुदेश टीकम, मदन साहू, चंदू साहू Continue Reading

मोदी पूरी तरह सुरक्षित हैं लेकिन उनका झूठ सुरक्षित नहीं हैं : विकास नारायण राय

मीडिया विजिल  से आभार सहित . 6.09.2018 मोदी पूरी तरह सुरक्षित हैं, एसपीजी में गुजारे बारह वर्षों के आधार पर यह कह सकता हूँ। प्रधानमन्त्री की सुरक्षा को लेकर एसपीजी से चौकस व्यवस्था हो ही नहीं सकती| लेकिन उनका झूठ सुरक्षित नहीं है। क्योंकि सुधा और अन्य सक्रिय मानवाधिकार कर्मियों Continue Reading

गौरी लंकेश : कत्ल की पहली बरसी पर तुम्हारी याद। राष्ट्रवादी नपुंसकों की कुतिया : कनक तिवारी 

 5.09.2018  श्रीराम सेने के प्रमोद मुतालिक ने गौरी लंकेश पर कुत्ते की याद करते फब्ती कसी थी। पहले भी एक हिन्दुत्वपरस्त ने उसे सीधे सीधे कुतिया कहकर सुर्खियां बटोरी थीं। चार गोलियां मारकर उसकी घर में हत्या की गई। गौरी लंकेश को पता नहीं था वह कुतिया है। वह सोचती Continue Reading

हमारी धरोहर और पहचान ही पेड़ है अगर हम उसे ही उजाड़ देंगे तो फिर कुछ नही बचेगा हमारे पास… : पेड़ो को बचाने हेतु पदयात्रा. : नेहरू चौक से सेंदरी .बिलासपुर .

  2 सितम्बर 2018 रविवार को नेहरू चौक बिलासपुर से ग्राम सेंदरी तक रतनपुर मार्ग के लगभग 5000 पेड़ो को बचाने हेतु पदयात्रा किया गया, ग्राम सेंदरी वासियों द्वारा पदयात्रा का स्वागत टिका-चंदन लगाकर किया और फिर एक सभा के साथ पदयात्रा का समापन किया गया.. सुबह 8 बजे नेहरू Continue Reading

PUCL Chhattasgarh extends its Solidarity to the struggle of students of HNLU, Raipur

4.09.2018 . Raipur  PUCL extends its Solidarity to the struggle of students of HNLU, Raipur who are fighting  against discriminatory curfew timings, moral policing, sexual remarks by authorities, rampant  corruption in administration and arbitrary University rules. Since the removal of Mr. Sukhpal Singh as the Vice Chancellor of university, students have been  protesting for Continue Reading

आज साहित्यकार, लेखक, बुद्धिजीवी, विचारक, समाजसेवी, मानव अधिकार कार्यकर्ता, वैज्ञानिक सब चिंतित है।, उनकी भागीदारी सुनिश्चित करने के बजाय उनपर हमले किये जा रहे हैं . :. गणेश कछवाहा .

असहमति को सत्ता के खिलाफ बगावत या विद्रोह मानना शासक वर्ग की कमजोरी, डर,तानाशाही प्रवृत्ति तथा फांसीवादी चरित्र को उजागर करता है।यह किसी भी देश के लोकतंत्र ही नहीं वरन सभ्य समाज के लिये गंभीर व खतरनाक होता है।  इससे नागरिकों के मौलिक एवं संवैधानिक अधिकारों का हनन शुरू हो Continue Reading