भिलाई स्पात प्रबंधन और ठेकेदारों ने मिलकर कराया मजदूर यूनियन के नेता योगेश कुमार सोनी पर जानलेवा हमला .

7.05.2019 , भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन एवं ठेकेदार गठजोड़ का घिनौना कारनामा ठेका मजदूर यनियन के विख्यात नेता कामरेड योगेश कुमार सोनी पर भाड़े के गुंडों द्वारा जानलेवा हमला करवाया गया । इसकी कड़ी निंदा करते हुए सीटू नेताओं ने इसके खिलाफ कड़े संघर्ष करने का संकल्प लिया है।सीटू Continue Reading

आंसुओं की घाटीमें नक्श उभारते मार्क्स. बादल सरोज

5 may 2019 “धर्म आंसुओं की घाटी की परछाईं है ।” मार्क्स का यह वाक्य, बार बार कही बात एक बार फिर दोहराने को विवश करता है कि कितना बड़ा कवि था यह दार्शनिक । यह भी कि दुनिया के जितने भी दार्शनिक हुये हैं (और पढ़ने में आये हैं) Continue Reading

‘अब तक दार्शनिकों ने समाज की व्याख्या की है, लेकिन सवाल इसे बदलने का है।’’ मार्क्स को याद करते हुये सीमा आज़ाद.

मार्क्स की 201 वीं जयन्ती 5 मई 2019 दुनिया को समझने ही नहीं, बल्कि इसे बदलने का दर्शन समाज को देने वाले कार्ल मार्क्स 201, साल के हो रहे हैं। 5 मई 2019 को दुनिया उनके जन्म की 201 वीं जयन्ती मनायेगी। दुनिया को अब तक जिस दर्शन ने सबसे Continue Reading

बीएसपी प्रबंधन की लापरवाही से सतवन नेताम की गंभीर दुर्घटना .अस्पताल में भर्ती .

3.05.2019/दल्लीराजहरा आज दल्ली मेकेनाईज्ड माइंस अंतर्गत MSDS (विद्युत विभाग) में ठेका मजदूर के रुप में कार्यरत जन मुक्ति मोर्चा के साथी सतवन नेताम बीएसपी की घोर लापरवाही पूर्ण कार्यशैली के चलते दुर्घटना का शिकार होकर गंभीर रुप से घायल हो गये है। बीएसपी में एक सेफ्टी मैनेजर होते है पर Continue Reading

छत्तीसगढ़ में जगह मना मजदूरों के संघर्ष और विजय का प्रतीक मई दिवस .

आज छत्तीसगढ़ में जगह जगह मजदूरों के संघर्ष और जीत का प्रतीक म ई दिवस मनाया गया.भिलाई , बिलासपुर , रायपुर ,दुर्ग ,रायगढ ,कोरबा ,धमतरी ,बांकी मोगरा से लेकर दक्षिण बस्तर के विभिन्न जिलों में मजदूरों ,कर्मचारियों ने रैली और आमसभा की . भिलाई 1 मई मजदूर दिवस को लेकर Continue Reading

मोर माटी के मितान ,चल मजदूर और किसान …जन गीत सुनिये ..

रेला कलेक्टिव द्वारा भिलाई में तैयार ,गीत के मूल लेखक कलादास डेहरिया जो रंगकर्मी के साथ ट्रेड यूनियन लीडर भी हैं। मोर माटी के मितान चल मजदूर और किसान .शोसन और अत्याचार ल मिटाये बर करो ,संघर्ष और निर्माण … कलादास जी द्वारा रचित यह गीत आंदोलनों और रैलियों में Continue Reading

बस इतनी सी बात … मई मजदूर दिवस पर नेहरू नगर “”नुक्कड़ कैफे”‘ में समीक्षा नायर का गजल गायन .

समीक्षा नायर ने मई दिवस के दिन भिलाई के नुक्कड़ कैफे मेंं आमंत्रित लोगों के समक्ष फैज अहमद फैज की गज़लें लाज़िम है कि हम भी देखेंगे. वो दिन कि जिस का वादा है. जो लौह-ए- अज़ल में लिख्खा है. जब ज़ुल्म-ओ- सितम … तथा तुझको कितनों का लहू चाहिए Continue Reading

हमारे हाथ अभी बाकी हैं : शरद कोकास .

डॉ कमला प्रसाद जी को जब मैंने मजदूरों पर लिखी अपने शुरुआती दौर की यह कविता सुनाई तो उसकी पंक्तियाँ थीं…”उठो दौड़ो /छीन लो उनके हाथों से वे पत्थर / तुम्हारे हाथ अभी बाकी हैं ।” कमला जी ने नाराज़ होते हुए कहा “एक सर्वहारा या मजदूर को यह हक़ Continue Reading

मजदूर दिवस पर अजय चंन्द्रवंशी की ग्यारह कवितायें…

1 निराशा मैं वही हूँ जिसने पाँच हजार साल पहले सिंधु नदी के किनारे सुंदर नगरों का निर्माण किया था मैं वही हूँ जिसने मिश्र के पिरामिडों में प्रकृति को चुनौती दी थी जिसने अजंता के गुफाओं में प्रेम के गीत गायें थें मेरे ही हाँथो ने खजुराहो में पत्थरों Continue Reading

मई दिवस एक सच्चे सपने को यथार्थ में बदलने के संकल्प का दिन : बादल सरोज

● कुछ घण्टे पहले पृथ्वी के सबसे पूर्वी कोने के न्यूजीलैंड के छोटे से टापू चैथम और उससे भी दो घण्टे पहले प्रशांत महासागर के कीर्तिमती द्वीप पर सूरज की किरणों के आगमन के साथ नयी तारीख का आगाज हो चुका है । ● नयी तारीख मतलब 1 मई । Continue Reading