23.01.2018   जन संघर्ष समिति बारनवापारा क्षेत्र और दलित आदिवासी मंच के द्वारा के कसडोल ब्लॉक के ग्राम बया में अनिश्चित कालीन धरना शुरू किया। बार अभ्यारण्य के अंदर बसे ग्रामीणों को वन विभाग द्वारा लगातार प्रताड़ित किया जा रहा हैं। पिछले दिनों स्थानीय रेंजर संजय रौतिया ने वन अमले […]

** रायगढ 16.01.2018 महावीर इनर्जी के कोलवाशरी और टीआरएन के खिलाफ घरधोडा के भेंगारी गांव मे आक्रोश बढ़ता जा रहा हैं .15 जनवरी को शुरू हुये अनिश्चित कालीन धरने ,सारे देश से आ रहे जनसंघठन के कार्यकर्ताओ के पहुँचने और लगातार बढ़ते आक्रोश से कम्पनी और प्रशाशन सहमा हुआ है […]

आलोक शुक्ला की पोस्ट. बारनवापारा अभ्यारण्य के ग्राम रामपुर जिसे अभ्यारण्य से बाहर विस्थापित किया गया हैं । गांव के 15 से 20 परिवार आज भी अपने पुराने गांव में बसे हैं और उन्होंने विस्थापन को स्वीकार नही किया था। वन विभाग के द्वारा लगातार ग्रामीणों को प्रताड़ित कर जबरन […]

  रायगढ /15.01.2018 घरघोडा के भेंगारी में प्रस्तावित टीआर एनर्जी और महावीर एनर्जी स्थापित होने से प्रदुषण ,पेड़ कटाई और भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आज से अनिश्चित कालीन धरना शुरू हो गया. अभी पिछले दिनों कंपनी के गुंडों के साथ मिलकर छतीसगढ़ पुलिस के लोगों ने ग्रामीणों पर हमला किया […]

** रायगढ जिले के घरघोडा मे जुनवानी और सुहाई जंगल के नाम से जाना जाता है ,यह 10 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र मे विस्तारित हैं और 32 गांव की कुल.आबादी करीब पचास हजार के आसपास है ।इस क्षेत्र के केन्द्र मे भेंगारी गांव मे टीआ एन एनर्जी और महावीर. एनर्जी एण्ड […]

राष्ट्रीय जन जाति आयोग ने राष्ट्रीय अभ्यारण्य और टाईगर रिजर्व से जबरिया विस्थापन की कार्रवाई पर रोक लगाया है और यह निर्देश दिया है कि जब तक वनाधिकार कानून के तहत निजी और सामूहिक निस्तारण पूर्ण रुप से संपन्न नहीं होता तब तक किसी भी अभ्यारण्य से आदिवासियों का विस्थापन […]

12 .01.2018 भूमि अधिकार और आदिवासी समूहों ने पर्यावरण के उल्लंघन के खिलाफ लोगों के संघर्ष के प्रमाण के रूप में रिपोर्ट का स्वागत किया। रिपोर्ट MoEF द्वारा दाखिल की गई थी और प्रतिवादी कंपनियों ने जवाब देने के लिए पांच हफ्ते के समय की मांग की है। ** रायगढ़, […]

8 जनवरी 2018, रायपुर छत्तीसगढ़ के अनेक किसान, खेतिहर, आदिवासी संगठनों एवं विस्थापन प्रभावितों के आंदोलनों का साझा सम्मलेन खेती-किसानी बचाने के नये और बड़े आंदोलनों के संकल्प के साथ संपन्न हुआ| छतीसगढ़ के किसानों की यह अब तक की सबसे बड़े स्तर की एकजुटता थी, जिसमे प्रदेश के तक़रीबन […]

5.01.2018 रायगढ. स्थानीय आदिवासियों को जानकारी दिए बिना और उनके साथ परामर्श किये बिना नवापारा टेन्डा गाँव (रायगढ़, छत्तीसगढ़) में थर्मल बिजली संयंत्र द्वारा पैदा की जाने वाली राख के विसर्जन के लिए तालाब का निर्माण, आदिवासियों के स्वतंत्र, पूरी जानकारी के साथ और पूर्व सहमति के अधिकारों का उलंघन […]

22.12.2017 तमनार ब्लाक के गारे पेलमा कोल ब्लाक ४/२&३ कोयला खदान से प्रभावित सात गॉव के लोग कोयला खदान स्थल पर मॉग रहे स्थाई नौकरी मुवाजा मुल भूत सुविधा गमीण सडक को डायवशन न करने १७०ख के तहत आदीवासी किसान के जमीन को वापास करने एंव पयांवरण मुददा को लेकर […]

Breaking News