कांकेर पुलिस को मेरी हत्या होने का इन्तजार है kamal shukla kanker

कांकेर पुलिस को  मेरी हत्या होने का इन्तजार है । ३१ मई को मोबाईल फोन पर जान से मार देने की धमकी देने वाले हिस्ट्रीशीटर बदमाश पर इन्होने महीना बीत  जाने के बाद भी कार्यवाही नही की है । जबकि मेरे खिलाफ फर्जी रिपोर्ट पर इसी पुलिस को कार्यवाही करने के लिए तीन दिन भी
Complete Reading

कांकेर पुलिस को  मेरी हत्या होने का इन्तजार है । ३१ मई को मोबाईल फोन पर जान से मार देने की धमकी देने वाले हिस्ट्रीशीटर बदमाश पर इन्होने महीना बीत  जाने के बाद भी कार्यवाही नही की है । जबकि मेरे खिलाफ फर्जी रिपोर्ट पर इसी पुलिस को कार्यवाही करने के लिए तीन दिन भी
Complete Reading

कांकेर पुलिस को  मेरी हत्या होने का इन्तजार है । ३१ मई को मोबाईल फोन पर जान से मार देने की धमकी देने वाले हिस्ट्रीशीटर बदमाश पर इन्होने महीना बीत  जाने के बाद भी कार्यवाही नही की है । जबकि मेरे खिलाफ फर्जी रिपोर्ट पर इसी पुलिस को कार्यवाही करने के लिए तीन दिन भी
Complete Reading

बांध ,तलाब और निस्तारी  सड़क को सरकार ने फिर बेच दिया एक कम्पनी को , कुछ दिन पहले ही रोगदा बांध भी ऐसे ही बेच दिया था ,छत्त्तीसगढ मे रोज एक से एक नये कारनामे , कभी नदी ,कभी जंगल कभी बांध कभी नर्सरी और कभी किसानो मी पूरे रास्ते ही कम्पनी के हवाले करने के
Complete Reading

बस्तर के गॉव मे माओवादियो से ज्यादा सुरक्षा बलों से खतरा , बीजापुर के मिरतुर थाना क्षेत्र का मामला ,.रमन सिंह और राजनाथ सिंह के पास सिर्फ फोर्स ही इसका इलाज रह गया ही ,जरा इनके कारनामे तो देखिये , यहा की जनता भी तो आपके ही राज्य मे रहती है और इनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी  भी आपकी ही है सिंह साहबानो,  एक बार फिर अपनी क्रूरता को लेके सुरक्षा बल आरोपो के घेरे मे हैं ,ग्रामीण दोनो तरफ से पिसने को मजबूर हैं ,माओवादियो से मुतभ्रेड मे मात खाने के बादसीआरपी और राज्य पुलिस के लोग अपनी खीज निरीह ,गरीब आदिवासियो के परिवारो  से निकाल रहे हैं .बीजापुर जिले के धुर माओवादी प्रभावितथाना  मिरतुर के दर्जन भर  गॉव से अधिक के आदिवासियो का यह कहना हैं,  की इन गॉव मे सुरक्षा बल के लोग गॉव मे पहुच के भयंकर मारपीट करते हैं ,समान की लूटपाट करते हैं , घरो से मुर्गे बकरी को जवान खा जाते हैं ,घरो मे रखी शल्फी को पी जाते है और बर्तनो को तोड़ जाते हैं , घर मे रखी रोजमर्रा  की चीजो को लूट लेते
Complete Reading

जिन्दल के बहुत से कारनामे सारे दुनिया मे जाने जाते हैं ,हमारा छत्तिसगढ़ सबसे ज्यादा उन्हे भोग रहा हैं . करोडो की ज़मीन , फिर भी उसकी विधवा दाने दाने को मोहताज़ , आदिवासी के साथ फर्जी और अपराधिक  तरीके से ज़मीन हथियाने वाले के साह पूरा प्रशासन और सरकार खदी दिखती रही है ,और
Complete Reading

एक सिख कि तंगनज़री व तंगदिली का गिला जरुर रहेगा : भगत सिंह पिछले साल रायपुर में बड़ा दर्दनाक वाकया हुआ , कुछ लोगो ने भगत सिंह कि हैट वाली मूर्ति का सर काट लिया और उसपे पगड़ी धारी सर लगा दिया ,बहुत हल्ला हुआ ,कुछ दिनों मूर्ति पे विवाद हुआ कि भगत सिंह पगड़ी ढाई
Complete Reading

बस्तर से दो साल मे बीस हजार आदिवासी भूख और भय के कारण अपने गॉव छोडने को मजबूर , छत्तिसगढ के सुकमा, बीजापुर और दंतेवाडा से सिर्फ दो साल मे करीब बीस हजार आदिवासी आपने गॉव छोड के आंध्रा जाने को एक बार फिर मजबूर हो रहे हैं ,पलायन का दौर अभी भी जारी हैं
Complete Reading

मुझे तो समझ नहीं आती की हमारी सरकारें किसका प्रतिनिध्व करती है ., अभी छत्तीसगढ की सरकार ने बिजली की दरें बढ़ाई ,दरें बढ़ाने का रेशो देखिये , किसानो को 76,22 प्रतिशत , आम उपभोक्ताओं को 21 प्रतिशत और बड़े उद्योगो को मात्रा २.09 से 13,61 तक ज्यादा कीमत देनी पड़ेगी,कोई समझा सकता है ये गणित
Complete Reading

दो करोड़ पिच्यासी लाख अठारह हजार टन चावल का हिसाब कों देगा भाई,  कितनी सहजता से छत्तीसगढ से खाद्य सचिव ने लोकलेखा समिति के सामने बयान सिया कि प्रदेश मे 6,79 लाख राशन कार्ड बोगस हैं ,यानी इसका मारलाब ये कि इन करदो पे जाने वाला अनाज अपात्रा लोगो को मिलता था , या ये कहें
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account