किसानों को राजनांदगांव में नहीं दी रायपुर तक पदयात्रा की अनुमति ,.किया हजारों किसानोंं को गिरफ्तार .:. स्टेडियम को बनाया अस्थायी जेल . चारों तरफ हो रही है गिरफ्तारी की आलोचना .

14.09.2018, राजनांदगांव  पिछले दो वर्षों का बोनस, कर्ज माफी, डेढ़ गुना समर्थन मूल्य, फसल बीमा राशि का भुगतान सहित अन्य मांगों पर दिनांक 14 से 17 तारीख तक आयोजित किसान संकल्प यात्रा राजनांदगांव से रायपुर की और रवाना होने के पहले प्रशासन ने रोक लगा दी ,अनुमति के लिये किसान नेता कलेक्टर से चर्चा करते 
Complete Reading

13.09.2018 / रायगढ गणेश कछवाहा की रिपोर्ट  एन टी पी सी लारा में छत्तीसगढ़ सरकार की आदर्श पुनर्वास नीति,तथा प्रभावितों को रोजगार देने की मांग को लेकर छपोरा चौक में प्रभावितों एवं ग्रामीणों द्वारा लगभग 176 दिनों से शान्ति पूर्वक धरना प्रदर्शन किया जा रहा था।बताया जा रहा है कि नियमानुसार 117 लोगों को नोकरी
Complete Reading

*मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर दमन के खिलाफ प्रतिरोध* *रायगढ़ 11 सितंबर 2018 अम्बेडकर चबूतरा रायगढ़ *समय*  पूर्वान्ह  11 बजे से सहभागी संगठन पी यू सी एल, छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन, क्रांतिकारी सांस्कृतिक मंच, दलित आदिवासी मज़दूर संगठन, जिला बचाओ संघर्ष मोर्चा रायगढ़, नवापारा छाल क्षेत्र कल्याण समिति घरघोड़ा, आदिवासी दलित मजदूर किसान संघर्ष, हरित सेवा समिति पुसौर,
Complete Reading

8.09.2018. बिलासपुर  आज देश बेहद अराजक दौर से गुजर रहा है , भाजपा शासित केंद्र और राज्य सरकारें एक ओर चुनाव जीतने नित नए हथकंडे अपना रही है वहीं दूसरी ओर वो आम मेहनतकश किसानों मजदूरों छोटे व्यापारियों की जेब काट रहीं हैं ,न ही रोजगार पैदा हुए और न ही लोगों की आमदनी में
Complete Reading

  लिंगाराम कोडपी की रिपोर्ट  7.09.2018   बस्तर संभाग के आदिवासियों की हकीकत, छत्तीसगढ़ राज्य के दन्तेवाड़ा जिला के ब्लॉक कटेकल्याण, थाना कुआकोण्डा, ग्राम पंचायत छोटे गुडरा, गाँव जियाकोडता का मामला हैं। कल सुबह करीब 4 बजे पुलिस प्रशासन की सयुक्त फोर्स ने जियाकोडता गाँव को घेराबंदी कर गाँव के कई आदिवासी बच्चों, महिलाओं, पुरुषों
Complete Reading

मीडिया विजिल  से आभार सहित . 6.09.2018 मोदी पूरी तरह सुरक्षित हैं, एसपीजी में गुजारे बारह वर्षों के आधार पर यह कह सकता हूँ। प्रधानमन्त्री की सुरक्षा को लेकर एसपीजी से चौकस व्यवस्था हो ही नहीं सकती| लेकिन उनका झूठ सुरक्षित नहीं है। क्योंकि सुधा और अन्य सक्रिय मानवाधिकार कर्मियों पर उनकी हत्या के षड्यंत्र
Complete Reading

असहमति को सत्ता के खिलाफ बगावत या विद्रोह मानना शासक वर्ग की कमजोरी, डर,तानाशाही प्रवृत्ति तथा फांसीवादी चरित्र को उजागर करता है।यह किसी भी देश के लोकतंत्र ही नहीं वरन सभ्य समाज के लिये गंभीर व खतरनाक होता है।  इससे नागरिकों के मौलिक एवं संवैधानिक अधिकारों का हनन शुरू हो जाता है।दमन, अत्याचार,और उत्पीड़न और
Complete Reading

3.09.2018 केन्द्र सरकार और खनिज धनी राज्यों के बीच, इस्पात निर्माताओं और आयरन ओर खनिजों और निर्यातकों के बीच अढ़ाई साल की खींचतान के बाद अप्रैल 2008 के पूर्वार्ध में भारत ने एक नई राष्ट्रीय खनिज नीति की घोषणा की। जिसमें निजी स्वामित्व वाले, बड़े पैमाने के मशीनीकृत खनन को प्रोत्साहित करेगी। जिसमें बहुराष्ट्रीय कंपनियों
Complete Reading

रायपुर / 2.09.2018  रायपुर के बूढ़ा तालाब स्थित धरना स्थल पर छत्तीसगढ़ की साथी अधिकवक्ता व ट्रेड यूनियन की नेत्री सुधा भारद्वाज सहित देश के अलग अलग हिस्से से मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को गिरफ़्तार किए जाने के विरोध में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया था व महामहिम राष्ट्रपति महोदय को इस संबंध में
Complete Reading

  On the 29th of August, five prominent civil rights activists were arrested by the police in raids across four states. Th jyuese arrests were made in connection to the violence that erupted in Koregaon, Maharashtra, on 31st December last year. The police has alleged that it has found links between the detenues and the
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account