अदानी को खदान देने को प्रशासन कराई थी फर्जी ग्रामसभा ,कलेक्टर बोले – फर्जी कैसे ,दस्तख़त है.

2010 में एनएमडीसी ने किरंदुल के हिरेली गोंव स्थित डिपोजिट 13 के लिए ग्रामसभा कराई  थी . ग्राम सभा की इसी अनुमति के अधर पर खनन की अनुमति रायपुर /नईदुनिया राज्य ब्यूरो यह मामला तब उठा जब बीते शनिवार को किरन्दुल में 11 किलोमीटर दूर बचेली तक पैदल मार्च करके Continue Reading

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में : अदानी कंपनी की खनन परियोजना के विरोध के प्रभावित ग्रामीणों ने ब्लॉक आफिस उदयपुर तक 28 किलोमीटर की पदयात्रा …

5.03.2019 : सरगुजा . सरगुजा जिले के उदयपुर जिले में संचालित परसा ईस्ट केते बासन कोयला खदान एवं प्रस्तावित परसा कोल ब्लॉक राजस्थान राज्य विधुत उत्पादन निगम लिमिटेड को आवंटित हैं, इसका खनन का ठेका MDO के माध्यम से अडानी कंपनी के पास हैं l इन दोनों परियोजनाओं को यहाँ Continue Reading

जन सुनवाई में जनता से खतरा क्यों? : उत्तराखंड शासन प्रशासन ने दिखा दिया कि बांध कंपनियां लोगों के अधिकारों और पर्यावरण से ज्यादा महत्वपूर्ण हैं.

 1 मार्च, 2019 यमुना घाटी में टॉन्स नदी की सहायक नदी सुपिन पर प्रस्तावित जखोल साकरी बांध परियोजना की पर्यावरणीय जनसुनवाई प्रभावित क्षेत्र से 40 किलोमीटर दूर मोरी ब्लॉक में कथित रूप से पूरी कर दी गई। 1 मार्च को जन सुनवाई का समय 11:00 बजे से शुरू हुआ किंतु Continue Reading

जखोल साकरी बांध की जनसुनवाई रद्द करो फिर वही धोकाः बिना जानकारी पुलिस के साये में जनसुनवाई

27.02.2019 जखोल साकरी बांध, सुपिन नदी, जिला उत्तरकाशी, उत्तराखंड की 1 मार्च, 2019 को दूसरी पर्यावरणीय जनसुनवाई की घोषणा हुई है। इस बार जनसुनवाई का स्थल परियोजना स्थल क्षेत्र से 40 किलोमीटर दूर है। यह मोरी ब्लॉक में रखी गई ताकि वह जन विरोध से बच जाए। सरकार ने प्रभावितों Continue Reading

दिल्ली ःः देश भर के दलित साहित्यकारों ने समर्थन दिया, जंतर मंतर में नवें दिन क्रमिक अनशन जारी ःः पद्मश्री श्री भालू मोघे जंतर धरने पर आए.

हिमाचल में धर्मशाला में 1 दिन का उपवास व धरना. 5 फरवरी, 2019 : प्रयाग राज के कुम्भ क्षेत्र में आत्मबोधा नंद जी के उपवास को लेकर, उनके स्वास्थ्य और उनकी मांग दोनों के प्रति गंगा स्नान करने आए लोगों में चेतना और चिंता बढ़ी है। न केवल समाज कर्मी Continue Reading

नई दिल्ली ःः उपवास का 103वां दिन: सरकार का मौन , देश के समाज कर्मियों व गंगा प्रेमियों का प्रतिरोध हुआ तेज.

नागरिक समाज के साथ संत समाज समर्थन में 2 फरवरी 2019, नई दिल्ली :: युवा संत के 103 से चल रहे लम्बे उपवास और सरकार की चुप्पी पर देश के समाज कार्यकर्ताओं में प्रतिरोध बढ़ता जा रहा है। वरिष्ठ वयोवृद्ध सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश, राजस्थान व हिमाचल के साथियों सत्यों Continue Reading

बस्तर ःः पिपलावण्ड क्रेसर खदानों में पांचवी अनुसूचित क्षेत्र के प्रावधान का सरासर उलंघन . माफिया का कब्ज़ा .

तामेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट  2.01.2019 बस्तर- एक तरफ छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल”जितने भी गौण खनिज है उसमें भी स्थानीय लोगों को अवसर देने की बात कह रहे है । मुख्यमंत्री बघेल कह रहे है कि बड़े ठेकेदार ग्रुप बनाकर काम ले लेते हैं। बस्तर खनिज माफिया की ठेकेदारी Continue Reading

अंतागढ़ में वन अधिकार कानून एवं भूमि आदिग्रहण सम्बंधित परिस्थितिया.ःः   आदिवासी जन वन अधिकार मंच कांकेर

अंतागढ़ में वन अधिकार कानून एवं भूमि आदिग्रहण सम्बंधित परिस्थितिया.ःः आदिवासी जन वन अधिकार मंच कांकेर. 23.12.2018 1. सामुदायिक वन अधिकार प्रक्रिया का गैर कार्यान्वयन वर्ष 2014 से लेकर वर्तमान तक अंतागढ़ तहसील के बहुतायत क्षेत्रों के ग्राम सभाओ ने वनाधिकार कानून के नियमो और प्रावधानों के अनुसार सामुदायिक वन Continue Reading

माटू जन संगठन मोरी, उत्तरकाशी, उत्तराखंड ःः संगीनों के साए में पुनर्वास की जनसुनवाई.

  matuganga.blogspot.in 9718479517 28-11-218 उत्तराखंड के छोटे से मोरी ब्लॉक में आज बैरिकेडिंग थी और बड़ी मात्रा में पुलिस थी। नजारा ऐसा था कि कोई बड़ा आतंकवादी हमला होने वाला है। उत्तरकाशी जिले के इस छोटे से ब्लॉक में सुपिन नदी पर, गोविंद पशु विहार में बनने वाली जखोल साकरी Continue Reading

दस्तावेज़ ःः आंदोलनों पर बढ़ते राजकीय दमन के खिलाफ, राष्ट्रीय एकजुटता सम्मलेन, रायपुर ,छतीसगढ ⚫ रिपोर्ट ,प्रस्ताव एवं घोषणा पत्र

🔵  🔴 31 अक्टूबर, 2018 , रायपुर ,छतीसगढ   11.11.2018 रायपुर भारत में लोकतंत्र, संविधान और मानवाधिकार पर बढते हमले ने देश को एक गंभीर स्थिति में खडा कर दिया हैं. भीमा कोरेगांव के सम्मेलन पर हिन्दू संगठनों के हमले के बाद सरकार ने पूरे देश में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, लेखकों, Continue Reading