तेजिंदर गगन का जाना : संजीव खुदशाह

15.07.2018 वरिष्ठ पत्रकार प्रभाकर चौबे के दिवंगत होने की खबर का अभी एक पखवाड़ा भी नहीं हुआ था की खबर आई, तेजिंदर गगन नहीं रहे। मुझे याद है तेजिंदर गगन से *मेरी पहली मुलाकात एक कार्यक्रम में हुई थी। वह एक राज्य संसाधन केंद्र के द्वारा आयोजित कार्यक्रम था। जिसमें वह बतौर साथी वक्ता पहुंचे
Complete Reading

  13 .07.2018 कभी कभार अपनी पसंदीदा स्त्रियों को याद कर लेने में कोई समस्या नहीं है । सार्वजनिक रूप से याद करने में तो और भी कोई हर्ज नही है । आज ऐसी ही स्त्री फ्रिडा काहलो रिवेरा के बारे में कुछ साझेदारी 6जुलाई 1907 जन्मी फ्रिडा का निधन आज ही के दिन 13
Complete Reading

13.07.2018 राजकुमार सोनी की फेसबुक वाल से  मशहूर उपन्यासकार, कथाकार और कवि तेजिंदर गगन अब हमारे बीच नहीं है। उनके निधन के बाद जितने लोगों ने भी उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी है उन सबने यह माना है कि वे एक अच्छे इंसान थे। किसी लेखक का लेखक होने से पहले अच्छा इंसान होना कितना जरूरी
Complete Reading

11.07.2018 : रायपुर  मशहूर साहित्यकार तेजिंदर गगन का बुधवार की रात्रि ह्दय गति रुक जाने से निधन हो गया। श्री तेजिंदर दोपहर को रायपुर के मौलश्री विहार स्थित एक विवाह समारोह में सम्मिलित हुए थे। उसके बाद वे सामान्य ढंग से घर आ गए। देर रात अटैक आने पर पड़ोस के एक चिकित्सक ने उनकी
Complete Reading

⭕ दोस्तो, आज प्रस्तुत हैं  वीरेन डंगवाल की कविताएँ. कविताओं पर चर्चा ज़रूर करें.   ✍🏻 वीरेन डंगवाल ० दस्तक के लिए प्रस्तुति : अनिल करमेले || माँ की याद || क्या देह बनाती है माँओं को ? क्या समय ? या प्रतीक्षा ? या वह खुरदरी राख जिससे हम बीन निकालते हैं अस्थियाँ ?
Complete Reading

4.07.2017 ,बिलासपुर NTPC सीपत स्थित बाल भारती स्कूल के 12th फाउंडेशन डे के उपलक्ष्य में आप कार्यकर्ता व सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका शुक्ला को वीमेन इंपॉवरमेन्ट पुरस्कार से सम्मानित किया ,मुख्य अतिथि के तौर पर उन्होंने सभा को संबोधित किया . प्रियंका ने इस अवसर पर कहा कि डा. भीमराव अंबेडकर और सावित्रीबाई फुले के किये
Complete Reading

4.07.2018   परेश रावल जब सुनील दत्त की भूमिका में आए तो पता चला कि वे वास्तव में मोदी के सांसद हैं। मोदी के सांसद चाहे कितना भी अपने आपको छिपाएं वे पकड़े ही जाते हैं। परेश रावल मामा ठाकुर के बाद से जिन कॉमिक भूमिकाओं में नजर आए हैं उनने परेश के अभिनय पर विपरीत
Complete Reading

2.07.2018/ रायपुर  समाज में कई अमानवीय प्रथायें आज भी मौजूद हैं और इन कुप्रथाओं के समूल नाश के बग़ैर सभ्य समाज की स्थापना की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। सबसे पहले इन कुप्रथाओं की तरफ़ दृष्टि जाना अतिआवश्यक है। ऐसे ही एक अमानवीय कुप्रथा पर आधारित “डाक्यूमेंट्री फ़िल्म लेसर ह्यूमन है .  2
Complete Reading

ऐसा नहीं है कि मोदी भक्त बेवकूफ है और भक्त अपनी मूर्खता के कारण मोदी की हर गलती का समर्थन करते हैं नहीं भक्त बहुत मेहनत से तैयार किये जाते हैं भक्त बनाने की एक लम्बी प्रक्रिया होती है भक्त बनाने का एक पूरा राजनीति शास्त्र होता है भक्त बनाने के पीछे राजनीतिक फायदे का
Complete Reading

ऐसा नहीं है कि मोदी भक्त बेवकूफ है और भक्त अपनी मूर्खता के कारण मोदी की हर गलती का समर्थन करते हैं नहीं भक्त बहुत मेहनत से तैयार किये जाते हैं भक्त बनाने की एक लम्बी प्रक्रिया होती है भक्त बनाने का एक पूरा राजनीति शास्त्र होता है भक्त बनाने के पीछे राजनीतिक फायदे का
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account