लड़की होकर अपने हक लिए भी लड़ना, खुद में क्रांतिकारी कदम है : प्रियंका शुक्ला 

21.09.2018 बहुत लोग कहेंगे कि क्या किया अपने जीवन मे, बस खुद ही के लिए तो लड़ा, फलाने को देखो उसने धिमाके के लिए लड़ा, इसके लिए लड़ा, उसके लिए लड़ा। खुद के लिए लड़ना भी कोई लड़ना होता है??? क्या क्रांतिकारी काम किया, बस खुद के लिए ही तो लड़ा। बतौर लड़की मैं कहूंगी,
Complete Reading

20.09.2018| दिल्ली  हम जब तक ज़िंदा रहेंगे लड़ते रहेंगे , सोनी सोरी

(Remembering Bahadur Singh Dhakad on his 11th memorial) बादल सरोज  ● वे वाकई बहुत जल्दी में थे। उन्हें हडबड़ी नहीं थी। आनन-फानन में कुछ या कच्चा पक्का गढक़र उस पर अपना नाम अंकित कर देने की जल्दबाजी तो बिल्कुल नहीं थी। यह उनके स्वभाव में ही नहीं था। बैचेनी थी तो बस इस बात की
Complete Reading

19.06.2018 बिलासपुर  राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की150 वीं जयंती पर गांधी शांति प्रतिष्ठान नई दिल्ली के आह्वान पर बिलासपुर में एक बैठक का आयोजन गांधीवादी स्वर्गीय देवजी भाई जोबनपुत्रा द्वारा स्थापित राष्ट्रीय पाठशाला में किया गया. गांधी शांति प्रतिष्ठान वर्ष भर गांधी जी पर विभिन्न तरह के कार्यक्रमों का आयोजन करना चाहता है और जनसामान्य को
Complete Reading

  18.09.2018/ रायपुर  रायपुर / सरकार ने तो सोचा नहीं होगा…लेकिन उस अखबार के प्रबंधन ने भी कभी कल्पना नहीं की होगी कि जिस सांठगांठ के तहत वे अपने पत्रकार को राज्य से बेदखल कर रहे हैं उस पत्रकार का गीत- ओ चाऊंर वाले बाबा… ओ दारू वाले बाबा… जबरदस्त ढंग से वायरल हो जाएगा।
Complete Reading

बिलासपुर / 18.09.2018 वीना सेंन्दरे , हां यही नाम हैं जो आज ट्रांसजेंडर की दुनियां मे निखरता उभरता और सबकी जुबान पर हैं .बेहद आकर्षक ,खुबसूरत ,मोहनी मुस्कान और शानदार कदकाठी .चर्चा इसलिए कि वे वाकायदा जनता के वोटों से चुनकर मिस ट्रांसक्वीन इंडिया कॉम्पिटिशन में जा रही हैं.वीना को अभी सबसे ज्यादा 3755 वोट
Complete Reading

सारिका श्रीवास्तव की प्रस्तुति  17.09.2018 ‘बारां माजिद – मजीदी की एक ईरानी फिल्म है ….इस फिल्म की खासियत यह है कि फिल्म की नायिका बिना बोले अपने किरदार को बाखूबी निभाती हैं… ज़्यादा उम्र नहीं उनकी लगभग 14/15 साल की हैं… इतनी कम उम्र में बिना बोले अपने किरदार को निभाना मामूली बात नहीं है…
Complete Reading

16.09.2018/बिलासपुर महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाने के लिये देशभर में विभिन्न आयोजन हो रहे है .गांधी शांति प्रतिष्ठान की पहल पर बिलासपुर में गत दिवस साल भर आयोजन की तैयारी के लिये प्रारंभिक राष्ट्रीय पाठशाला में बैठक हुई . हम गांधी को याद करते है तो याद आता है कि उन्होंने 125 साल
Complete Reading

16.09.2018 इन दिनों आगामी फिल्‍म ‘मंटो’ की काफी चर्चा है, इसे नंदिता दास ने बताया है। मंटो हिंदी उर्दू लेखक सआदत हसन मंटो के जीवन पर आधारित बायोपिक है। इस बीच आपने ख़ूब पढ़ा होगा कि भारतीय सिनेमा अचानक बायोपिक बनाने में जुट गया है, ख़ासतौर पर स्‍पोर्ट्स बायोपिक। पर क्‍या कभी आपने सोचा है
Complete Reading

15.09.2018 उन तितलियों के पर जला दिए गए जिनके रंग विधर्मी थे यह एक समय ऐसा था कि विविधता को विधर्म घोषित कर दिया गया। वे परिंदे वे पशु वे पेड़ सब पराए हो गए जो बहुवर्णी थे। रंगों का ऐसा डर था हवा में कि दो तीन रंगों तक सीमित था संसार। पर रंग
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account