National Conference Against Increasing Oppression on Adivasis in Raipur : To oppose the increasing atrocities and oppression on tribal people all over India, Adivasi Bharat Mahasabha.

  Raipur 31.01.2018 ** (ABM) will be holding its first national conference from 02nd to 04th February 2018 at Gondwana Bhawan, Tikrapara, Raipur, Chhattisgarh. Bhojlal Netam, Convener and Saura Yadav Co-ordinator of Adivasi Bharat Mahasabha (ABM) in a press release ,said that more than 300 delegates and observers from Maharashtra, Continue Reading

डीबीपॉवर के लायजनिंग डीजीएम को ग्राम कुनकुनी के सरपंच पति मंगल राठिया ने डंडों से किया पिटाई .: सहारा सयय न्यूज़ 

डीबीपॉवर के लायजनिंग डीजीएम को ग्राम कुनकुनी के सरपंच पति मंगल राठिया ने डंडों से किया पिटाई। सहारा सयय न्यूज़  खरसिया (दया शंकर दर्शन) ग्रामीणों के साथ हुज्जतबाजी एवं गुंडा गर्दी पर उतारू डीबी पॉवर के डीजीएम युगेश पांडेय की सरपंच पति कुनकुनी मंगल राठिया ने जमकर किया पिटाई,डीबी पॉवर Continue Reading

पल्स ग्रुप ऑफ कंपनीज के प्रभावित हजारों लोगों की रायपुर विशाल सभा. : छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन ने भी दिया अपना समर्थन.

पल्स ग्रुप ऑफ कंपनी PACL से छत्तीसगढ़ के लगभग 30 लाख निवेशकों का पेसा वापिस लेने की मांग पर आज राजधानी रायपुर में हजारों की संख्या में जुटकर विशाल सभा आयोजित की। पल्स प्रभावितों के आंदोलन को छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन और जिला किसान संघ राजनांदगाँव ने भी अपना समर्थन प्रदान Continue Reading

बार अभ्यारण के गांव रामपुर में वनविभाग द्वारा मारपीट ,: राजकुमार को उठाया ,ग्रामीण चौकी पर रिपोर्ट दर्ज करने पहुचे , ग्रामीणों के खिलाफ ही रिपोर्ट दर्ज कर दी .

16.01.2018 देवेंद्र की रिपोर्ट 15जनवरी 2018 के दोपहर वन विभाग के दुवार बार अभ्यारण के विस्थापित गांव रामपुर में आज भी 10 परिवार रह रहे है जिसको गांव से भगाने के लिए वन विभाग द्वारा लगातार उन आदिवासी परिवारों के साथ मारपीट किया जा रहा है कल मारपीट महिलाओ के Continue Reading

रारगढ ,घरघोडा के भेंगारी मे अनिश्चित कालीन धरना शुरू : कलेक्टर ने कल प्रस्तावित जन सुनवाई स्थगित की : कंपनियों के खिलाफ भारी रोष .

  रायगढ /15.01.2018 घरघोडा के भेंगारी में प्रस्तावित टीआर एनर्जी और महावीर एनर्जी स्थापित होने से प्रदुषण ,पेड़ कटाई और भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आज से अनिश्चित कालीन धरना शुरू हो गया. अभी पिछले दिनों कंपनी के गुंडों के साथ मिलकर छतीसगढ़ पुलिस के लोगों ने ग्रामीणों पर हमला किया Continue Reading

रायगढ़ शासन को आदिवासियों के शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने के अधिकार की रक्षा करनी चाहिए : Amnesty International India

Bengaluru: 14 January 2018 रायगढ़, छत्तीसगढ़ में स्थानीय प्रशासन कोनिजी कंपनियों की गतिविधियों का विरोध कररहे आदिवासियों के 15 और 16 जनवरी कोशांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने के अधिकार कासम्मान और रक्षा करनी चाहिए । रायगढ़ जिले में स्थित घरघोड़ा ब्लॉक के 6 गाँवोंके रहवासी, नवापाड़ा टेन्डा गांव में टीआरएनएनर्जी लिमिटेड द्वारा राख तालाब के गैरकानूनीनिर्माण और भेंगारी गांव में महावीर कोल वॉशरीप्राइवेट लिमिटेड द्वारा कोयला वाशरी कीस्थापना के खिलाफ विरोध की योजना बना रहेंहै। छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल ने 16 जनवरी को कोयला वाशरी के लिए पर्यावरणमंजूरी प्रक्रिया के तहत लोक सुनवाई काआयोजन किया है। बिजनेस एंड ह्यूमन राइट्स, एम्नेस्टी इंटरनेशनलइंडिया, के प्रबंधक, कार्तिक नवायन ने कहा, “आदिवासी ग्रामीणों को भारत के संविधान औरअंतरराष्ट्रीय कानून के तहत शांतिपूर्ण विरोधकरने का अधिकार है। इस अधिकार का संरक्षणऔर प्रदर्शनकारियों की धमकियों और हमलों सेसुरक्षा करना अधिकारियों का कर्तव्य है।“ स्थानीय मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने एम्नेस्टीइंटरनेशनल इंडिया को बताया कि निजीकंपनियों के बिनाह पर कार्य कर रहे एजेंटों नेउन्हें धमकाया है कि वह ग्रामीणों को संगठितकरना और विरोध प्रदर्शन करना बंद करें।स्थानीय कार्यकर्ताओं ने बताया कि “हम जनसुनवाई का विरोध करने के लिए प्रभावितग्रामीणों को लामबंद कर रहे हैं। एक कंपनीअधिकारी, गुंडों और 3-4 पुलिस वालों – जिन्होंने अपने चेहरे ढके हुए थे – के साथ आयाथा और धमकी दी कि ‘हम तुम्हारा मुँह बंद करदेंगे’, ‘तुम्हें गाडी में डाल कर ले जाएंगे और जेलमें ठूस देंगे’; उन्होंने हमारे साथ हाथापाई भी की।यह 11 जनवरी को भेंगारी मुख्य सड़क परहुआ“। स्थानीय आदिवासी कई सालों से ज़मीन कीलड़ाई लड़ रहे हैं जो वे कहते हैं गैरकानूनी ढंगसे – धमकी, ज़ोर–जबरदस्ती और गलत सूचनाके ज़रिये – दो निजी कंपनियों – टीआरएनएनर्जी लिमिटेड और महावीर एनर्जी एंड कोलबेनेफिक्शन लिमिटेड के बिनाह पर काम करनेवाले एजेंटों द्वारा उनसे हथियाई गयी थी | 2016 में, आदिवासी ग्रामीणों ने अपनी भूमिकी बहाली के लिए अदालत में में गैर–आपराधिक मामले दायर किये थे । जून 2017में, उन्होंने अनुसूचित जाति और अनुसूचितजनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम केतहत आपराधिक शिकायतें भी दर्ज कराई थीं,जिनमें आरोप लगाया गया था कि उन्हें अपनीजमीनें बेचने के लिए मजबूर किया गया है। अक्टूबर 2017 में, टीआरएन एनर्जी ने नवापाराटेन्डा में एक राख तालाब का निर्माण शुरू किया| कई स्थानीय ग्रामीणों ने एम्नेस्टी इंटरनेशनलइंडिया को बताया कि उन्हें राख तालाब केनिर्माण के बारे में कोई भी सूचना नहीं दी गयीथी, ना ही उनके साथ कोई परामर्श किया गयाथा और ना ही उन्हें इसके साफ़ हवा, पानी,स्वास्थ्य और आजीविका पर होने वाले असर केबारे में उन्हें कोई जानकारी दी गयी थी। 11 जनवरी को, स्थानीय ग्रामीणों नेअधिकारियों को पत्र लिख कर यह आरोपलगाया कि भेंगारी गांव में कोयले की वाशरी कीस्थापना के लिए 16 जनवरी को प्रस्तावितपर्यावरण–सम्बंधित लोक सुनवाई के लिएआवश्यक प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया गयाहै । ग्रामीणों ने 15 जनवरी को विरोध प्रकटकरने के लिए एक सामुदायिक लोक सुनवाईआयोजित करने का फैसला किया है । ***

15 , 16 जनवरी से अनिश्चितकालीन धरना और प्रदर्शन और प्रतिरोध सभा .: बाजार चौक भेंगारी ,घरघोडा रायगढ :आदिवासी दलित मजदूर किसान संघर्ष समिति .

** रायगढ जिले के घरघोडा मे जुनवानी और सुहाई जंगल के नाम से जाना जाता है ,यह 10 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र मे विस्तारित हैं और 32 गांव की कुल.आबादी करीब पचास हजार के आसपास है ।इस क्षेत्र के केन्द्र मे भेंगारी गांव मे टीआ एन एनर्जी और महावीर. एनर्जी एण्ड Continue Reading

MoEFCC और कोयला मंत्रालय की रिपोर्ट SECL और JSPL को रायगढ़ में पर्यावरण उल्लंघन का दोषी ठहराती है; ग्रामीणों ने सिफारिशों के तत्काल समयबद्ध कार्यान्वयन की मांग की.

12 .01.2018 भूमि अधिकार और आदिवासी समूहों ने पर्यावरण के उल्लंघन के खिलाफ लोगों के संघर्ष के प्रमाण के रूप में रिपोर्ट का स्वागत किया। रिपोर्ट MoEF द्वारा दाखिल की गई थी और प्रतिवादी कंपनियों ने जवाब देने के लिए पांच हफ्ते के समय की मांग की है। ** रायगढ़, Continue Reading

Woman killed over land dispute in C’garh village, 14 held

By PTI  |   Published: 09th January 2018 06:57 PM  | ** Raigarh, Jan 9 (PTI) A 45-year-old woman was killed while her husband and son were injured when they were attacked by a group of people allegedly over a land dispute in their village in Chhattisgarh’s Raigarh district, police said today. Police have arrested Continue Reading