पदमक्का को 10 साल जेल में रहने के बाद कोर्ट ने माना झूठा था मामला :,आज रिहा.

11.10.2017

(पत्रिका )

2007 से जेल में बंद पदमक्का को आज जगदलपुर जेल से रिहा कर दिया गया, रिहा होने के बाद उन्होंने कहा कि छत्तीगढ़ पुलिस ने उसके खिलाफ 10 झूठे मामले बनाये और 10 साल जेल में रखा .एक भी मामले में उसे दोषी नही पाया गया ,पदमक्का ने यह भी कहा कि जब उनके खिलाफ मामले और अन्य वारंट थे तो 7 साल जेल में रहने के समय क्यो तामील नही किये गये .

आज उन्हें उनके दो भाई व परिवार के लोग लेने आये थे उनके साथ वो हैदराबाद चली गईं . पदमक्का पर शहरी माओवादी नेट वर्क के आरोप में गिरफ्तार किया गया था .उन्हें. दस साल जगदलपुर जेल मे रखा गया था ,.

पदमक्का को 2007 मैं भिलाई से गिरफ्तार किया गया था और दुर्ग जेल मैं रखा गया उन्हें 2009 मैं दोषमुक्त होने के बाद उन्हें दुबारा जगदलपुर पुलिस ने अन्य मामलों मैं वारंट के आधार पर गिरफ्तार कर लिया गया .और पूरे 10 साल बाद उन्हें सभी मामलों मैं दोष मुक्त किया गया और अंततः वे अपने घर वापस चलीं गई .

**

Leave a Reply

You may have missed