छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ ने किसानों की गिरफ्तारी केविरोध में राज्यपाल को दिया ज्ञापन .

छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ ने किसानों की गिरफ्तारी केविरोध में राज्यपाल के नाम से राजभवन में सचिव अशोक  अग्रवाल को ज्ञापन सौंपा ।

इस अवसर पर द्वारिका साहू, रूपन चन्द्राकर, डॉ संकेत ठाकुर, गौतम बंद्योपाध्यय, दुर्गा झा, जागेश्वर चन्द्राकर, उत्तम जायसवाल, मो हैदरी, आदि उपस्थित थे ।

**

 

बाद में यह सभी  विधान सभा थाने भी गए जहां आलोक शुक्ला और अन्य किसान नेताओं को रखा गया है.

 

ज्ञापन में लिखा गया है

प्रति,

राज्यपाल महोदय

छत्तीसगढ़

 

माननीय महोदय,

 

उपरोक्त विषयान्तर्गत निवेदन है कि प्रदेश के किसान धान पर रु 300 प्रति क्विंटल बोनस, धान का रु 2100 प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य, एक एक दाना धान की खरीदी, मुफ्त बिजली, स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिश लागू करने, कर्ज माफी,शून्य प्रतिशत ब्याज पर लोन की मांगों को लेकर आंदोलनरत है ।

 

राज्य सरकार द्वारा सिर्फ एक वर्ष का बोनस देने का आदेश जारी कर किसानो को प्रलोभन देने की कोशिश की गई है । जबकि इस वर्ष भीषण सूखा की वजह से किसानों की स्थिति और भी अधिक ख़राब हो गई है ।

अपनी मांगों को पूरा करवाने के लिये किसान संगठनों ने 19 सितम्बर से किसान संकल्प यात्रा का एलान किया था । जिसके तहत विभिन्न क्षेत्रों से किसान पदयात्रा कर 21 सितम्बर को मुख्यमंत्री निवास कूच करने वाले थे ।

 

राज्य शासन ने दमनात्मक कार्यवाही कर राजनांदगांव, कवर्धा जिलों में धारा 144 लगा दीहै । किसानों को गांवों से बाहर निकलने रोका जा रहा है , किसान नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है । कल रात्रि से अब तक मिली जानकारी के अनुसार जिला किसान संघ राजनांदगांव के साथियों सुदेश टीकम, चंदू साहू, रमाकान्त बंजारे, संजीत ठाकुर सहित दर्जनों किसानों को गिरफ्तार कर लिया गया है ।

 

महोदय, बिना हिंसा या कानून व्यवस्था की स्थिति की बिगड़े बिना सिर्फ किसानों को पदयात्रा में आने से रोकने धारा 144 लगाना, गिरफ्तार करना लोकतांत्रिक अधिकारों का सीधा सीधा हननहै । लोकतान्त्रिक विधि से चल रहे किसान आंदोलन को दमनात्मक ढंग से कुचलना अभिव्यक्ति के अधिकारों को कुचलने के बराबर है ।

 

हम आपसे राज्य सरकार के दमनपूर्ण कार्रवाई पर रोक लगाने हेतु हस्तक्षेप का निवेदन करते है ताकि 21 सितम्बर को हमारा प्रदर्शन शांतिपूर्ण विधि से सम्पन्न हो सके ।

 

धन्यवाद

 

समस्त किसान

छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ

Leave a Reply

You may have missed