कम्बल वाले बाबा और अंधविश्वास ,अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति

13,9, 2017
छत्तीसगढ़ के बलरामपुर के पास एक व्यक्ति जो कपड़े के ऊपर कम्बल ओढ़ता है ग्रामीणों का कम्बल ओढ़ाने , से बीमारियों के इलाज करने की कचर्चा जोरों से है ,कम्बल ओढ़ाने के अलावा ,बच्चों के हाथ पैर खींचने ,मारपीट करने ,महिलाओ के हाथ पैर खीचने धक्का दे कर इलाज ,करने के भी वीडियो आये है अन्य बाबाओ की तरह असाध्य बीमारियों के ठीक होने की बात भी वह करता है दो दिनों पहले गृह मंत्री भीअपनी डायबिटीज का इलाज कराने वहां चले गए । इलाज के नाम लोगो के साथ ठगी करनेके बाबाओ के ऐसे देश भर में लगातार अनेक मामले सामने आए है जिसमें कुछ समय बाद न केवल उनकी पोल खुली है बल्कि वे जेल भी गए है । ग्रामीण तो पर बाबाओ पर अंधविश्वास करने और चिकित्सा उपलब्ध न होने के कारण ऐसे बाबाओ द्वारा सुदूर अंचल में लगाये जाने वाले शिविरों में चले जाते हैं पर किसी मंन्त्री का ऐसे स्थान पर जाना उचित नही है । प्रदेश के मुख्यमंत्री स्वयं चिकित्सक है और वे प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं के बेहतरी के लिए मेडिकल कॉलेज खोलने ,स्वास्थ्य केंद्र खोलने ,मुख्यमंत्री स्वास्थ्य योजना,संजीवनी , जैसी योजनाएं संचालित कर मरीजों के लिए काम कर रहे है तब कुछ नेताओ द्वारा बाबाओ को बढ़ावा देने की बात ठीक नही है ऐसे बाबाओ द्वारा की जाने वाली तथाकथित चिकित्सा अवैज्ञानिक ,और अतार्किक है और भारत सरकार के ड्रग एंड मैजिक रेमेडी एक्ट1954 के अंतर्गत अपराध है । ऐसे तथाकथित सभी बाबाओ पर कार्यवाही हो ।
**

डॉ दिनेश मिश्र अध्यक्ष अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति

Leave a Reply

You may have missed