रोहिंग्या स्त्री, पुरुष और बच्चे, जो म्याँमार की राजनीतिक स्थितियों पर बीजीवीएस में चर्चा आज

साथियो,
हम सभी वाकिफ हैं कि हज़ारों की संख्या में रोहिंग्या स्त्री, पुरुष और बच्चे, जो म्याँमार की राजनीतिक स्थितियों में जान बचाने के लिए आसपास के देशों में जा रहे हैं.
भारत-म्यांमार की सीमा पार कर ऐसे अनेक लोग हमारे देश में आ चुके हैं.
उम्मीद थी कि प्रधानमंत्री की हाल की म्याँमार यात्रा में इस मसले पर कोई बातचीत होगी. विडंबना ही है कि ऐसा नहीं हुआ.
इन लोगों को अवैध घुसपैठिया मान कर भारत सरकार इन्हें फिर म्याँमार भेज देने को तत्पर है. जहां इनकी जान को खतरा है.
ऐसी नाजु़क अंतर्राष्ट्रीय परिस्थिति में हमारा नज़रिया क्या होना चाहिए, उस पर चर्चा ज़रूरी है.

आप ज़रूर आए.
दिनांक 14 सितंबर 2017
समय – 4 बजे.
स्थान- भारत ज्ञान विज्ञान समिति, इ-7/32बी एसबीआई कॉलोनी,अरेरा कालोनी, भोपाल.

Leave a Reply