तेमेलवाडा ,चिंतागुफा और बुरकापाल में सुरक्षा बलो पर मारपीट ,लूटपाट और धमकाने का आरोप . खेतो में जाने से डरते है लोग .

.

9 अगस्त 2017/ पत्रिका

तेमेलवाडा ,चिंतागुफा और बुरकापाल के ग्रामीणों ने सुरक्षा बलों पर घरो में घुस कर मारपीट करने और लूटपाट करने का आरोप लगाया हैं .ग्रामीणों का कहना है की वे लोग भय से खेतो में जाने से डर रहे है तीनो गाँवो के लोगो ने एकत्रित होकर जवानो के खिलाफ कार्यवाही की मांग की हैं .उनका कहना है कि लोग डर कर पलायन करने को मजबूर हो रहे हैं . उन्होंने सीआरपीएफ ,कोबरा बटालियन और जिला पुलिस पर आरोप लगाये हैं .
तेमेलवाडा के कलमू हादा ने कहा की जवानों ने दो बार उनके घर में घुसकर उनके साथ मारपीट की हैं ,वही पोडियम सुक्का ने कहा की वो खेत में काम कर रहा था वही जाकर सैनिको ने पिटाई की थी . मुचाकी हुर्रा ने कहा की वो घर से बहार ले जा के उसकी बहुत पिटाई की गई थी . तेमेलवाडा के कुर्रम बामन ने भी कहा की उसकी बहुत मारपीट की गई , जिसके कारण वो चल नहीं पा रहा हैं .कसलपाड़ की महिलाओ ने कहा की महिलाओ को बुरी तरह मारा जा रहा है ,हड्मा कवासी को मरते हुए रास्ते में छोड़ दिया गया .कसलपाड़ की बोधियम बुदरा ने कहा की उसके पास रखे 415 रुपये भी जवान छीन ले गए ,चिंता गुफा के ग्रामीणों ने जिला बल के मेजर शंकर पर अत्याचार का आरोप लगाया है ,की वो जुल्म ढा रहे है .
चिंता गुफा के लोगो ने बताया की सोढ़ी मंगा नाम के युवक को तीन साल पहले जेल ले गए थे लेकिन आक तक उसका जुर्म का कोई पता नहीं पड़ा की उसे क्यों पकड़ा गया .ग्रामीण कह रहे है की मंगा आम ग्रामीण है है किसे खेती करते समय पकड़ कर जेल में डाल दिया गया था .चिंता गुफा के ग्रामीण कह रहे है की मेजर शंकर शराब पी कर लोगो के साथ मारपीट करते हैं . तीन युवक पोडियम मल्ला ,कवासी हडमा और और सोढ़ी मंगा ने पिटाई से त्रस्त होने की बात कही .चिंता गुफा के ही पिता पुत्र को बुरी तरह पीटने का आरोप लगाया गया .
पिता मडकाम और पुत्र रामा मडकाम ने कहा की खेत में काम करते समय ही पकड़ कर पिटाई लगाईं जा रही हैं.
सभी ग्रामीण डरे ही एही और अपने अपने गाँव से पलायन करने की बात कर रहे हैं .
**

[ पत्रिका बस्तर 9.8,2017 ]

Leave a Reply