नर्मदा सत्याग्रह बुलेटिन, 4 अगस्त, 10:50 pm

2017,4.8
**
कल रात मेधा पाटकर सहित 11 अनशन पर बैठे लोगों की सरकारी डॉक्टर द्वारा जांच की गई जिसमें डॉक्टर ने बताया कि सभी अनशनकारियों की स्थिति गंभीर है और अस्पताल में भर्ती हो कर चिकित्सक जांच होनी बहुत ज़रूरी है।

एस. डी. एम और थाना प्रभारी के साथ डॉक्टर की एक बड़ी टीम फिरसे आज जांच के लिए आई लेकिन उन्हें मना करते हुए घाटी के लोगो ने कहा कि पहले जांच की रिपोर्ट दीजिये, उसके बाद निर्णय लेंगे। इस पर डॉक्टर्स की टीम ने सभी की रिपोर्ट दी।

अनशनकारियों की बिगड़ती हालात को देखते हुए आज नर्मदा बचाओ आंदोलन ने अपने डॉक्टर को बुला कर सभी अनशनकारियों की जांच करवाई। जांच में सभी की हालत पहले से भी गंभीर निकल कर आई। लगभग सभी अनशनकारियों का ब्लड प्रेशर कम है और कीटोन की मात्रा सभी में बहुत ज़्यादा पायी गई है। मेधा पाटकर, गायत्री बहन और पुष्पा बहन की स्थिति गंभीर है।

लेकिन फिर भी अनशन पर बैठे सभी लोगो का कहना है कि चाहें स्थिति कितनी भी गंभीर हो जाये, हम अनशन से नही उठेंगे | जब तक सरकार , औपचारिक तरीके से संवाद के लिए तैयार नहीं होती और पूर्ण पुनर्वास बाकि है इसलिए सरदार सरोवर बाँध के गेट जो बंद किये जा चुके हैं उन्हें वापस नहीं खोलती, हमारा अनशन और हमारी लड़ाई जारी रहेगी

** |

Leave a Reply