नर्मदा सत्याग्रह बुलेटिन 4 अगस्त 2017, 9:00 am चाहें स्थिति कितनी भी गंभीर हो जाये, ना तो हम कोई चिकित्सा जांच करवायंगे और न ही अनशन से उठेंगे.

**
कल रात मेधा पाटकर सहित 11 अन्य अनशन पर बैठे नर्मदा घाटी के लोगों को सरकारी डॉक्टर की एक टीम जिसमे 2 वरिष्ठ डॉक्टर, लैब टेकनिशन और कमपाउंडर आये तथा अनशन पर बैठे सभी लोगों का ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर जैसी अन्य जांच की | जांच से पता चला की मेधा पाटकर सहित सभी अनशन पर बैठे लोगों की हालत गंभीर है, ब्लड प्रेशर बहुत कम है और सभी में किटोन की मात्रा भी पाई गई | पुलिस प्रशासन से एस.डी.एम ऋषि गुप्ता और थाना प्रभारी शी.बी. सिंह भी उपस्थित थे और साथ ही समर्थन देने कुक्षी विधायक श्री हनी बगेल भी पहुचे |

डॉक्टर ने कहा की लगभग सभी की स्थिति गंभीर है और सभी को चिकित्सा जांच कराने की सलाह दिजाती है और साथ ही कहा की हॉस्पिटल में भरती करना सही रहेगा | लेकिन मेधा पाटकर सहित सभी अनशनकारियों ने चिकित्सा जांच के लिए साफ़ मना करते हुए कहा की प्रशासन को हम 12 लोगों की चिंता न करते हुए नर्मदा घाटी के लाखों लोगों की चिंता करनी चाहिए | चाहें स्थिति कितनी भी गंभीर हो जाये, ना तो हम कोई चिकित्सा जांच करवायंगे और न ही अनशन से उठेंगे | जब तक सरकार संवाद के लिए तैयार नहीं होती और पूर्ण पुनर्वास बाकि है इसलिए सरदार सरोवर बाँध के गेट जो बंद किये जा चुके हैं उन्हें वापस नहीं खोलती, हमारा अनशन जारी रहेगा |
**

Leave a Reply