नर्मदा घाटी के विस्थापितों के सम्पूर्ण और न्यायपूर्ण पुनर्वास के समर्थन में प्रदर्शन. दिनांक 6 अगस्त 2017, स्थान आंबेडकर चौक, दोपहर 12 बजे , रायपुर छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन

आमंत्रण
**
साथियों,

जैसा आप जानते हैं की नर्मदा घाटी में बसे 40 हजार परिवारों को न्यायपूर्ण व सम्पूर्ण पुनर्वास दिए बिना ही सरदार सरोवर बांध के गेट को बंद कर मध्यप्रदेश, गुजरात और केन्द्रीय मोदी सरकार जबरन उजाड़ रही हैं उनकी जल समाधी दे रही हैं l
घाटी में बसे इन हजारो गरीब मजदूर, मछुवारे आदिवासी व्यापारी और हर वर्ग के लोग विकास के नाम पर इस हिंसा और जबरन विस्थापन के खिलाफ में आन्दोलनरत हैं, और 31 जुलाई से सामूहिक अनशन कर रहे हैं l

कार्पोरेट परस्त सरकारों ने गुजरात के किसानों को पानी देने और बिजली उत्पादन के नाम पर घाटी में बसे लाखों लोगों को उनके जंगल, जमीन से जबरन बेदखल किया हैं l आज बांध का पानी गुजरात के किसानो के खेत में जाने के बजाये कोका कोला जैसी सैकड़ो कंपनियों को दिया जा रहा हैं l मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा घाटी में बसे डूब प्रभावित 40 हजार परिवारों से अधिक लोगों का पुनर्वास किये बिना ही उन्हें 31 जुलाई तक गाँव खाली करने का तानाशाही पूर्ण आदेश जारी किया हैं l
तमाम कानूनों और न्यायालीन आदेशों की अवहेलना कर राज्य सरकार किसी भी कीमत पर लोगों को उजाड़ना चाह रही हैं जिसका साफ मकसद हैं सरदार सरोवर को पूर्ण भरकर कार्पोरेट जगत को पानी उपलब्ध कराना l इस जबरन विस्थापन के खिलाफ तथा न्यायपूर्ण व सम्पूर्ण पुनर्वास की मांग को लेकर नर्मदाघाटी के लोग संघर्ष कर रहे हैं जिसे ताकत देने के लिए पूरे देश में आदोलन हो रहे हैं l

इसी दिशा में छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन दिनांक 6 अगस्त 2017 को दोपहर 12 बजे सांकेतिक प्रदर्शन करेगा जिसमे आप से सादर निवेदन हैं कि कार्यक्रम में शामिल होकर नर्मदाघाटी के संघर्ष में अपनी एकजुटता प्रकट करें .
साथियों, शांति के नाम पर 6 अगस्त को हिरोशिमा पर एटम बम गिराया गया था जिसमें कुछ क्षणों में लाखों मनुष्य मारे गए थे,आज विकास के नाम पर हजारों परिवारों को डुबोने की तैयारी है, आइए इस निर्ममता के खिलाफ खड़े हो
**
छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन

Leave a Reply