किसानों की समस्याओं पर चर्चा के लियेविधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग .छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ .ष

किसानों की समस्याओं पर चर्चा के लियेविधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग .छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ .ष

छग किसान मजदूर महासंघ के संयोजक मंडल ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात कर किसानों की समस्याओं को जोर-शोर से उठाने के लिये एक दिन का विशेष सत्र आरक्षित करने की मांग की.

**

1 अगस्त 17

आज छत्तीसगढ़ विधानसभा परिसर में छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ के संयोजक मंडल ने नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल से मुलाकात की । इस मुलाकात में विगत 2 माह से किसान आंदोलन की विस्तार से जानकारी  दी गई और निवेदन किया गया कि कांग्रेस पार्टी किसानों की समस्याओं को विधानसभा में जोर शोर से से उठाए । संयोजक मंडल में शामिल 28 संगठनों  के प्रतिनिधियों संयुक्त किसान मोर्चा छत्तीसगढ़ के द्वारिका साहू , नई राजधानी किसान कल्याण समिति के रूपन चंद्राकर एवम पप्पू कोसरे, छत्तीसगढ़ किसान फोरम के  डॉ संकेत ठाकुर, तत्पर के  वीरेंद्र पांडे, छत्तीसगढ़ महिला अधिकार मंच की दुर्गा झा, किसान मितान महासमूंद के जागेश्वर चंद्राकर, राइट फॉर फाइट बिलासपुर के अनिल सिंह, राष्ट्रीय किसान समन्वय समिति के पारसनाथ साहू, छग अभिकर्ता एवम उपभोक्ता संघ के लक्ष्मीनारायण चंद्राकर आदि ने  प्रदेश के किसानों की ओर से किसान आत्महत्या मामले में भाजपा सरकार की झूठी बयानबाजी पर कड़ी आपत्ति दर्ज करने का आग्रह किया ।

कर्ज की वजह से आत्महत्या नही बताकर भाजपा सरकार किसान परिवारों का लगातार अपमान कर रही है । मृत किसान के परिवारों को मुआवजा देने से बचने के लिये उन्हें बीमार, शराबी, झगड़ालू बताकर राज्य सरकार किसानों के जख्म में नमक छिड़क रही है ।

किसान नेताओं ने मांग की कि विधानसभा में 1 दिन का विशेष सत्र भारतीय जनता पार्टी के किसानों के साथ झूठे संकल्पों, किसानों की कर्ज माफी और किसानों की समस्याओं पर ही केंद्रित चर्चा करने के लिए आरक्षित किया जाए ।

नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव ने किसान महासंघ को आश्वासन दिया कि वे सत्र के दौरान एक पूरा दिन किसानों की स्थिति पर चर्चा करवाने का प्रयास करेंगे । उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसानों की मांगों को लेकर विधानसभा में सक्रिय है और आज भी किसान आत्महत्या मामले में शून्यकाल को चलने नहीं दिया गया । प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने विधानसभा को सीधे बाधित करने के प्रस्ताव को मना करते हुए कहा कि सरकार हमें बदनाम करने का षड्यंत्र करेगी इसलिए सदन की कार्यवाही के दौरान ही हम किसानों की जायज मांगों को लेकर चर्चा करते रहेंगे । किसान नेताओं ने नेताद्वय को यह बताया कि उन्होंने भाजपा सरकार को 8 अगस्त तक का अल्टीमेटम दिया है कि उनकी मांगे अगर पूरी नहीं होती है तो 9 अगस्त को विधानसभा में विधायकों को घुसने नहीं दिया जाएगा इस हेतु आप सभी हमें मदद करें ।

कांग्रेस के नेताओं ने किसान महासंघ को आश्वस्त किया कि वह किसानों की हर लड़ाई में उनके साथ हैं।

विधानसभा परिसर में ही कांग्रेस विधायक धनेंद्र साहू और सत्यनारायण शर्मा से मिलकर किसान नेताओं ने किसानों के आंदोलन से अवगत कराया जिसका उन्होंने समर्थन किया .

**

संकेत ठाकुर 
छत्त्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account