जानिए क्या है पनामा लीक्स जिसने पाकिस्तान सहित भारत के छत्तीसगढ़ की राजनीति में हलचल मचा रखी है

जानिए क्या है पनामा लीक्स जिसने पाकिस्तान सहित भारत के छत्तीसगढ़ की राजनीति में हलचल मचा रखी है

** कुणाल शुक्ला 

28.7.17

करीब 80 देशों के 100 से अधिक मीडिया संगठनों के 400 पत्रकारों ने दस्तावेजों का गहन शोध किया है। *मोसेक फॉन्सेका* से लीक हुए दस्तावेजों से यह संकेत मिलता है कि दुनिया भर के नेताओं और प्रमुख खिलाडिय़ों अन्य हस्तियों ने अरबों डॉलर की राशि उसके यहां छुपाई हुई है। ऐसी आशंका है कि इस प्रकरण के सामने आने से पनामा की छवि एक ऐसी जगह के रुप में बनेगी जो कि कर चोरों के लिए पनाहगाह या मनी लाण्डरिग का केंद्र है।

यहां की सरकार को पनामा की उस छवि को तोडऩे में बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा है जिसके अनुसार यहां कर अधिकारियों से धन छुपाने के लिए संदिग्ध लेनदेन होता है। इस देश का इस्तेमाल धनी, ड्रग तस्कर, अपराधी व आतंकियों के धन को सफेद करने के लिए किया जाता है। पनामा का नाम पनामा रिपब्लिक है, यह मध्य अमरीका के दक्षिण में है जो पनामा भूडमरु पर स्थित है और उत्तर और दक्षिण अमरीका के दो महाद्वीपों को धरती की एक पतले डमरू से जोड़ता है।40 लाख की जनसंख्या
पनामा एक छोटा-सा देश है जिसकी जनसंख्या सिर्फ 40 लाख है। पनामा की राजधानी का नाम पनामा नगर है।

पनामा स्पेन का उपनिवेश हुआ करता था। पनामा की मुद्रास्फीति नीची है और यह अपनी मुद्रा के रूप में अमरीकी डॉलर का इस्तेमाल करता है। यहां की सरकारें लगातार पनामा को सिंगापुर जैसे ही व्यापार अनुकूल वित्तीय केंद्र के रूप में बढावा देती रही हैं और उन्होंने यहां बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं को सक्रियता से बढ़ावा दिया है। उसकी आय का एक बड़ा हिस्सा, उसकी विख्यात नहर से आता है। उसके सकल घरेलू उत्पाद में इस नहर से आय का हिस्सा लगभग 80 फीसदी है।

पनामा को ऐसे देश के रूप में जाना जाता है जिसने लातिन अमरीका में सबसे सतत आर्थिक वृद्धि दर्ज की है।ऐसे काम करती है फर्म  सेक फॉन्सेका फर्म विदेशियों को पनामा में शेल कंपनीज बनाने में मदद करती है, जिसके जरिए वे अपनी वित्तीय संपत्ति को अपना नाम या पता बताए बिना खरीदते हैं।

वर्ष 1977 में अपने गठन के बाद से फर्म ने पनामा के बाहर दुनियाभर में 40 अधिकारियों को तैनात किया है। फर्म के ये अधिकारी दुनियाभर के अपने क्लाइंट्स को न सिर्फ पनामा, बल्कि बहमास, ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड और अन्य टैक्स हैवन देशों में शेल कंपनीज बनाने में मदद करते हैं,

भारत सहित विश्व के कौन कौन से प्रमुख राजनेता और हस्तियां इसमे शामिल हैं?*

आइसलैंड के तत्कालीन प्रधानमंत्री ने 2 साल पहले ही अपना नाम आते ही इस्तीफा दे दिया ,पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को आज वहां के सुप्रीम कोर्ट ने दोषी करार दिया,यूक्रेन के राष्ट्रपति, सऊदी अरब के राजा और डेविड कैमरन के पिता का नाम प्रमुख है. इनके अलावा लिस्ट में व्लादिमीर पुतिन के करीबियों के नाम हैं पर कहा यह जा रहा है कि यह काला धन उन्ही का है अभिनेता जैकी चैन और फुटबॉलर लियोनेल मेसी का नाम भी है,
वहीं इसमे भारत के सातवें नम्बर के सवा दो करोड़ आबादी वाले प्रदेश छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के पुत्र अभिषेक सिंह का नाम भी एक शैल कंपनी के ओनर के रूप में है जिसमे उनके पुश्तैनी घर का पता और रमन मेडिकल स्टोर कवर्धा का नाम आया है,हालांकि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और उनका परिवार इस मामले से पल्ला झाड़ते रहे हैं

कुणाल शुक्ला 9827151166

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account