**
28.7 17
नर्मदा तट के गाँव कुकरा राजघाट में महात्मा गाँधी ,कस्तूरबा गाँधी और उनके निजी सचिव महादेव देसाई केअस्थिकलश की समाधी बनी हुई है.
सरदार सरोवर बांध की डूब में आ रहे क्षेत्र में यह राजघाट भी आ रहा था , मध्यप्रदेश शासन ने डूब क्षेत्र से प्रभावित जगह को हटाने की शुरुआत राजघाट से ही की और गुरुवार को सुबह 4 बजे पुलिस का अमला जेसीबी मशीन को लेकर राजघाट पहुँच गया और समाधी को खोद के अस्थिकलश निकल लिए .गाँव के लोग जागते उसके पहले ही पुलिस ने यह कारनामा अंजाम दे दिया .
इसके पहले की पुलिस अस्थिकलश और चबूतरे को कही ले जाती कि गाँव के लोगो ने उन्हें घेर लिया .
अस्थिकलश को निकालने के बाद पचास मीटर दूर पहुची जेसीबी को रोहणी तीर्थ के स्वामी रामदास महाराज और नर्मदा भक्तो ने उसे घेर लिया .घटना की जानकारी मिलते ही नर्मदा बचाओ आन्दोलन के मेधा पाटेकर भी अपने साथियों के साथ पहुँच गई .लोगो के भारी विरोध के बाद अस्थिकलश को पुनर्वस स्थल पर लेजाने का तय हुआ और आखिर में अस्थि कलश और चबूतरा को वापस गांधी समाधी पर सम्मान सहित रखा गया .
***