किसानों का दर्द समझें ना कि उनके ज़ख्मों पर नमक छिड़के

किसानों का दर्द समझें ना कि उनके ज़ख्मों पर नमक छिड़के

किसानों का दर्द समझें ना कि उनके ज़ख्मों पर नमक छिड़के – छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ

छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ ने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह और प्रदेश के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल   किसानों के आत्महत्या के मामले में दिये गये बयानों पर कड़ी आपत्ति दर्ज जतायी  है ।
छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ के संयोजक मंडल सदस्य पप्पू कोसरे, द्वारिका साहू, रुपन चंद्राकर, डॉ संकेत ठाकुर, वीरेंद्र पांडे, गौतम बंदोपाध्याय और पारस साहू ने भाजपा नेताओं के बयानों पर ऐतराज जताते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने किसानों की आत्महत्या को सामाजिक समस्या बताकर किसानों के दुख दर्द पर संवेदनहीनता दिखाई है और केंद्र व् राज्य में सत्तासीन भाजपा सरकार को बचाने का कुत्सित प्रयास किया है । 
दूसरी ओर किसानों के कल्याण का जिम्मा लेने वाले कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कर्ज से आत्महत्या ना करने की बात बोल कर उन पीड़ित परिवारों के जख्म पर नमक छिड़कने का काम किया है जिनके मुखियाने कर्ज से तंग आकर आत्महत्या कर ली । मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह जिनके गृह जिले और विधानसभा क्षेत्र में  गंभीर आर्थिक परिस्थितियों के चलते कर्ज से तंग आकर किसानों ने आत्महत्या की उनके प्रति भी संवेदनहीनता का परिचय दिया है । किसान महासंघ ने मुख्यमंत्री और कृषि मंत्री पर घनघोर संवेदनहीनता का आरोप लगाया है कि उन्होंने एक पखवाड़े में 10 किसानों द्वारा आत्महत्या कर लेने के बावजूद किसी भी पीड़ित परिवार के घर उनके दुख को साझा करने जाना उचित नहीं समझा ।
छत्तीसगढ़ के किसान कर्ज से तंग आकर आत्महत्या कर रहे हैं लेकिन इस सच्चाई को प्रदेश के मुख्यमंत्री और कृषि मंत्री नकारने की कोशिश में लगे हुए हैं । और इस षड्यंत्र में  उन्होंने न केवल अपने शासकीय अधिकारियों को लगा रखा है बल्कि अब भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को भेज कर झूठी रिपोर्ट तैयार करने का काम भी कर रहे  है ताकि उन्हें किसानों को मुआवजा ना देना पड़े । 
किसानों की समस्त परेशानियों की सिर्फ एक ही वजह है लगातार बढ़ता खर्च और कर्ज । अतः किसान महासंघ ने छत्तीसगढ़ के कर्जाग्रस्त किसानों को बचाने के लिए सरकार पंजाब महाराष्ट्र कर्नाटक उत्तर प्रदेश की तर्ज पर कर्जा माफ़ी की मांग की है । 
किसानों  की बढ़ती आत्महत्या और राज्य सरकार के संवेदनहीन रवैये पर रणनीति तैयार करने छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ की राज्य समन्वय समिति की बैठक रायपुर में 28 जून को रखी गई है ।

डॉ संकेत ठाकुर, द्वारिका साहू, रूपन चन्द्राकर

संयोजक मण्डल सदस्य
छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account