सुरक्षाबलों के जवानों पर दुषकर्म का आरोप ,हाईकोर्ट में सर्व आदिवासी समाज ने लगाई जनहित याचिका .

सुरक्षाबलों के जवानों पर दुषकर्म का आरोप ,हाईकोर्ट में सर्व आदिवासी समाज ने लगाई  जनहित याचिका .

***-
बस्तर के बीजापुर क्षेत्र में सुरक्षा बलों के जवानो पर बलात्कार का आरोप लगाते हुये सर्व आदिवासी समाज ने छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट में  जनहि याचिका प्रस्तुत की है .
याचिका में एस आईटी से जांच करवाने और पीडितों को मुआवजा दिलाने की मांग की गई है.याचिका में कहा गया है कि सरेंडर करने वाले माओवादियों ने सुरक्षा बलों को सूचित किया था कि गांव में अविवाहित युवतियाँ  नक्सली है विवाहित का नक्सलियों से कोई सबंध नही है .इस सूचना पर दिनांक 21 अक्टुबर 2015 को डीआरजीओ कोबरा बटालियन ,सीआरपीएफ ,और अन्य जवानों ने बीजापुर के तीन गांव में सघन जांच अभियान चलाया, विवाहित और अविवाहित युवतीयों को पहचान के लिये उनके स्तन निचोड़ कर दिखाने पर लडकियों को मजबूर किया गया.इसके अलावा महिलाओं के साथ बलात्कार भी किया गया,,घरों में लूटपाट ,लोगों के साथ मारपीट तथा घरों में आग लगा दी गई.
जानकारी मिलने के बाद सर्व आदिवासी समाज ने घटना स्थल पर जाकर 32  महिलाओं के बयान दर्ज किये .
एक नवंम्बर 2015 को थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई .
पुलिस ने विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट भी दर्ज की लेकिन एक साल बाद भी अभी तक कोई  कार्यवाही नहीं की गई.जनहित याचिका में हाईकोर्ट की देखरेख में एस आई टी से जांच करवाने और प्रभावितो़ को दस लाख मुआवजा देने की मांग की गई है .
याचिका पर सोमवार को सुनवाई की संभावना है .
***

Leave a Reply