ग्रामीणों के विरोध के चलते अब किरंदुल में होगी जनसुनवाई

 

 

 

 

ग्रामीणों के विरोध के चलते अब किरंदुल में होगी जनसुनवाई

Published: Wed, 21 Jun 2017 12:29 AM (IST) | Updated: Wed, 21 Jun 2017 12:29 AM (IST)

By: Editorial Team

दंतेवाड़ा। नईदुनिया प्रतिनिधि

एनएमडीसी निक्षेप 14/11-सी के विस्तार और उत्खनन के लिए पर्यावरणीय स्वीकृति से पहले ग्रामीणों की राय अब किरंदुल में ली जाएगी। अगली जनसुनवाई किरंदुल में 6 अगस्त को होगी। मंगलवार को दंतेवाड़ा में आयोजित जनसुनवाई का विरोध करते ग्रामीण बाहर चले गए। उन्हें समझाने की कोशिश अधिकारियों ने की लेकिन वे नहीं माने।

मंगलवार को स्थानीय वन काष्ठागार में आयोजित एनएमडीसी जनसुनवाई फेल हो गई। जनसुनवाई में प्रभावित गांव के ग्रामीण और जनप्रतिनिधि शामिल नहीं हुए जबकि क्षेत्र के दर्जनों जनप्रतिनिधि और ग्रामीण जिला मुख्यालय पहुंचे थे। वे वन काष्ठागार पहुंचे पर सभाकक्ष में नहीं घुसे। जनसुनवाई का बाहर रहकर विरोध करते रहे। इस बीच एनएमडीसी अधिकारी बाहर आकर ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की लेकिन वे नहीं माने। इसके बाद जनसुनवाई समिति के सदस्यों ने अगली बैठक किरंदुल में 6 अगस्त को करने का निर्णय लिया। इधर किरंदुल परियोजना क्षेत्र के निक्षेप 14 /11 सी के प्रभावित ग्राम पंचायत कड़मपाल, हिरोली, कोड़ेनार, मदाड़ी से पहुंचे ग्रामीणों ने कहा है कि बस्तर अनुसूचित क्षेत्र है, यहां पांचवी अनुसूची लागू है इसलिए यहां छग पंचायती राज अधिनियम 1993 लागू नहीं होता बल्कि छग पंचायत राज अधिनियम 1996 के अनुसार यहां ग्रामसभा और लोक सुनवाई होनी चाहिए। 40 किमी दूर दंतेवाड़ा में जनसुनवाई रखने की जानकारी प्रभावित गांव में नहीं दी गई। सभा के संबंध में ग्रामों में नोटिस भी चस्पा नहीं की गई और न ही पर्यावरण प्रभाव आंकलन रिपोर्ट की ड्राफ्ट प्रतियां स्थानीय बोली में बांटी गई हैं। इधर मंगलवार को सभा का विरोध होने के बाद एनएमडीसी प्रबंधन ने अगली सुनवाई किरंदुल में कराने का निर्णय लिया है। इसकी पुष्टि एनएमडीसी जीएम टीएन चेरियन ने करते कहा कि 6 अगस्त को अगली सुनवाई की तिथि तय गई है।

****

– See more at: http://naidunia.jagran.com/chhattisgarh/dantewada-cg-news-bastar-1208981#sthash.Jb18FtpC.dpuf

Be the first to comment

Leave a Reply