कल्लुरी को बस्तर वापस लाओ





कल्लुरी को बस्तर वापस लाओ

रायपुर | संवाददाता: एसआरपी कल्लुरी को फिर से बस्तर लाने की मांग जोर पकड़ने लगी है.
बस्तर में आईजी रहते हुये उनकी उपलब्धियों को लेकर सोशल मीडिया में बहस जारी है. उनकी पहल पर बनाये गये संगठनों का कहना है कि बस्तर में अगर माओवादियों पर नकेल कसनी है तो कल्लुरी के अलावा कोई चारा नहीं है.


हालांकि एक दूसरा वर्ग वह भी है, जो कल्लुरी के खिलाफ लगातार मुखर बना हुआ है. इसके अलावा बस्तर को लेकर भी सोशल मीडिया में व्यापक बहस चल रही है.
सोशल मीडिया पर चल रहे संदेशों में कहा जा रहा है कि बस्तर में आईजी रहते हुये एसआरपी कल्लुरी ने माओवादियों की कमर तोड़ दी थी. पिछले 30 सालों में सबसे अधिक मुठभेड़ और सबसे अधिक आत्म समर्पण कल्लुरी के कार्यकाल में हुये हैं. कहीं गंभीरता के साथ तो कहीं जुमले के बतौर नारे लिखे जा रहे हैं-सिंघम की वापसी की मांग तेज होती जा रही है. बस्तर से राजधानी तक नारे लग रहे-कल्लूरी को वापस लाओ.
दूसरी ओर 6 अप्रैल, 2010 को सुकमा में 76 सीआरपीएफ जवानों की मौत की भी याद दिलाई जा रही है. उस समय शिवराम प्रसाद कल्लुरी दंतेवाड़ा में डीआईजी पुलिस थे. सोशल मीडिया में सवाल उठ रहा है कि कल्लुरी माओवादी हमलों के इतिहास के इस सबसे बड़े हमले के लिये ज़िम्मेवार हैं.
एक संदेश में लिखा गया- 30 मार्च 2016 को दंतेवाड़ा में सीआरपीएफ के 7 जवान शहीद हुए, 11 अप्रैल 2015 को कंकेरलंका में एसटीएफ के 7 जवान शहीद हुये, 13 अप्रैल 2015 को किरंदुल में सीएएफ के 5 जवान मारे गये, 17 मई को बीजापुर में 3 जवान, 15 जुलाई को बीजापुर में ही 4, 2015 में 41 जवान और 2016 में 36 जवान शहीद हुये. इन तमाम शहादत के समय शिवराम कल्लुरी ही बस्तर के आईजी पुलिस थे.
जवाब में दूसरे आंकड़े भी गिनाये जा रहे हैं कि किस तरह शिवराम प्रसाद कल्लुरी के समय बस्तर में 1900 से भी अधिक खूंखार माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया. जवाब में यह सवाल भी पूछा जा रहा है कि लेकिन राज्य सरकार की अपनी ही कमेटी 97 प्रतिशत लोगों के समर्पण को खारिज क्यों कर देती है?
गाली-गलौच से इतर होने वाली इन बहसों में कई तथ्य सामने आ रहे हैं, आंकड़े तैयार हो रहे हैं लेकिन इन सारी बहसों में जो खास बात है, वो ये कि माओवादियों के खिलाफ सब तरफ गुस्सा है. बड़ी संख्या ऐसे लोगों की है, जो चाहते हैं कि इस बार आर या पार की लड़ाई हो और इसके लिये बस्तर की कमान फिर से शिवराम प्रसाद कल्लुरी को सौंपी जाये.
****

cgbasketwp

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account