JNU छात्रों पर हुई बर्बरता के विरोध में आए बिलासपुर के नागरिक

बिलासपुर

रविवार की शाम जब पूरी दिल्ली ठंड और वीकेंड के आगोश में थी उसी वक़्त जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) परिसर का माहौल गर्मा गया. शाम छह बजे के करीब 50-60 की संख्या में आए नकाबपोश लोगों ने तमाम हॉस्टलों के अंदर घुसकर छात्रों पर हमला किया, तोड़फोड़ किया. उनके हाथ में लाठी, सरिया, हॉकी आदि थे. लगभग तीन घंटे तक परिसर में अराजकता फैलाने के बाद ये हमलावर आराम से बाहर निकल गए. और जेएनयू मेन गेट पर मौजूद पुलिस उन्हें चुपचाप देखती रही. इस हमले में कई छात्र और शिक्षकों को गंभीर चोटे आई हैं जिन्हें एम्स भी भर्ती कराया गया है.

इस हमले की निंदा और विरोध करने के लिए आज 6 जनवरी की शाम बिलासपुर के अम्बेडकर चौक में संयुक्त नागरिक मोर्चा ने नारे लगाए और विरोध प्रदर्शन किया 

प्रदर्शन में मौजूद लोगों ने कहा कि इस हमले के पीछे नरेंद्र मोदी और अमित शाह की धर्म की राजनीति है। लोगों ने कहा कि देश की राजधानी में पुलिस की मौजूदगी में छात्र छात्राओं पर ये जो जानलेवा हमला किया गया उसने पूरे देश की पुलिस की विश्वसनीयता पर सवालिया निशान लगा दिया है। नागरिक मोर्चा ने इस हमले के दोषियों को तत्काल गिरफ्तार करने और नरेंद्र मोदी अमित शाह के इस्तीफे की मांग की।

आज के प्रदर्शन में नंद कश्यप, रवि बनर्जी, adv सलीम काजी, नागेश्वर मिश्रा, नीलोत्पल शुक्ला, अनुज श्रीवास्तव, कपूर वशनिक, शाकिर अली, राजिक अली, नजीम,आमिर,  व अन्य शामिल थे

Anuj Shrivastava

Leave a Reply

Next Post

JNU हमले के खिलाफ वर्धा विश्वविद्यालय के छात्रों ने निकाला प्रतिरोध मार्च

Tue Jan 7 , 2020
महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा, महाराष्ट्र के छात्रों द्वारा 5 जनवरी को JNU के छात्रों पर हुइ बर्बर हिंसा […]

You May Like