मोदी के केवड़िया दौरे के पूर्व आदिवासी नेताओं को उठा लिया गया, ये कैसा एकता दिवस है?


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज गुजरात मे रहेंगें. नर्मदा ज़िले के केवड़िया इलाके में आयोजित राष्ट्रीय एकता दिवस के कार्यक्रम मनाया जाना है। प्रधानमंत्री के दौरे के पहले ही पुलिस ने यहां के आदिवासी नेताओं को गिरफ़्तार कर लिया है।

जिस जगह पर स्टेच्यू ऑफ यूनिटी बनाया गया है, ज़मीन अधिग्रहण, मुआवज़े, सूखा और आम जीवन से जुड़ी कई गंभीर परेशानियों से उस इलाके के हज़ारों आदिवासी जूझ रहे हैं। प्रधानमंत्री के पास स्टेच्यु के साथ पोज़ मारते हुए तस्वीरें खिंचवाने का तो समय है पर इलाके के लोगों की समस्या पर वे ध्यान ही नहीं दे रहे हैं। इवेंट उनकी मनपसंद चीज़ है।

राष्ट्रीय एकता दिवस नाम से एक नया इवेंट आज किया जाना है जिसे मीडिया भी उछल उछल कर दिखाएगा. इलाके के आदिवासियों की आवाज़ कोई नहीं सुन रहा है। इसलिए आदिवासी समाज ने आज राष्ट्रीय आफ़त दिवस मनाने और केवड़िया बंद का ऐलान किया था।

गुजरात एक्सक्लूसिव में प्रकाशित ख़बर के अनुसार विरोध को दबाने के लिए पुलिस का चुस्त बंदोबस्त किया गया है और आठ हजार से ज्यादा पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है. ऐसे में नर्मदा जिला के अलग-अलग आदिवासी संगठनों ने मोदी के प्रोग्राम का विरोध कर कल केवड़िया बंद का ऐलान किया है जिसकी वजह से प्रसाशन ने कई आदिवासी नेताओं को हिरासत में ले लिया है.

इंडिजिन्स आर्मी ऑफ इंडिया के संस्थापक और आदिवासी नेता डॉक्टर प्रफुल्ल वसावा ने इस सिलसिले में जानकारी देते हुए कहा कि कल केवड़िया को बंद रखने का फैसला किया गया है. 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस की जगह पर आदिवासी समाज के लोग राष्ट्रीय आफत दिवस के तौर पर मनाने वाले हैं और गुजरात के पूर्वी क्षेत्र यानी उमरगाम से लेकर अंबाजी तक के इलाके में रहने वाले आदिवासी समाज के लोग इस विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने वाले हैं. बावजूद अगर हमारी मांग को नहीं सुना जाता तो आने वाले दिनों में देश के तमाम आदिवासी समाज के लोग रास्ते पर उतरकर केवड़िया को बचाने का आंदोलन चलाने वाले हैं.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रोग्राम में विरोध ना किया जा सके इसके लिए आदिवासी नेता प्रफुल्ल वसावा, नरेन्द्र तडवी, रोहित प्रजापति, शैलेष तडवी, क्रिष्नकांत, जीकु तडवी, नरेश तडवी और रामकृष्ण के साथ कई अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया है. साथ ही साथ मौके की नजाकत को देखकर पुलिस ने जबरदस्त तरीके से पेट्रोलिंग शुरु की दी है.

Anuj Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

हाईपावर स्क्रूटनी कमेटी के निर्णय पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

Thu Oct 31 , 2019
महारा जाति के प्रमाण पत्र निरस्त करने मामला बिलासपुर @ पत्रिका . जस्टिस गौतम भादुड़ी की एकलपीठ ने हाई पावर […]