पूर्व कलेक्टर पर आदिवासियों की जमीन छीनकर एजुकेशन सिटी बसाने का आरोप

राज्यपाल से मिलकर प्रभावित ग्रामीणों ने की शिकायत

कहा उनसे जमीन लेकर उनके साथ धोखा हुआ

पत्रिका न्यूज

रायपुर . पूर्व कलेक्टर और भाजपा नेता ओपी चौधरी
ने दंतेवाडा की जिस जावंगा एजुकेशन सिटी के नाम पर शोहरत कमाई , उसी में उनके खिलाफ आदिवासियों की जमीन धोखे से छीनने के आरोप लग रहे हैं ।

दंतेवाड़ा के बड़े पनेड़ा गांव के दर्जनों ग्रामीणों ने सोमवार को राज्यपाल अनुसूईया उइके से मिलकर ओपी चौधरी की शिकायत की ।

ग्रामीणों ने राज्यपाल को एक ज्ञापन सौंपकर बताया , दंतेवाड़ा की तत्कालीन कलेक्टर रीना बाबा साहेब कंगाले ने17 लोगों को उस जर्मन पर वन भूमि का पटटा दिया था । 2010 – 11 में वहाँ कलेक्टर रहते हुए ओपी चौधरी ने जावंगा एजुकेशन सिटी के लिए उन लोगों से जमीन खाली करने को कहा ।

मना करने पर माओवादी सहयोगी बताकर फंसाने की धमकी दी गई । कलेक्टर ने चुपके चुपके गांव के पटवारी से प्रतिवेदन दिलवाकर उनका वन अधिकार पत्र निरस्त करा दिया । उस समय दूसरी जगह पटटा देने , बच्चों को निःशुल्क पढ़ाने और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का भी वादा किया था , लेकिन उसे पूरा नहीं किया गया ।

दूसरी जमीन का वन अधिकार पत्र दिया गया है , लेकिन कब्जा आज तक नहीं मिला । ग्रामीणों ने राज्यपाल से कार्रवाई की मांग की है ।

मेरे खिलाफ षड़यंत्र

आज फिर एक शिकायत कराई – गई है । मैंने पहले भी कहा था , दंतेवाड़ा में जिन कामों के लिए मुझे मनमोहन सिंह ने स्वयं सबसे बड़ा पुरस्कार दिया था . आज 6 साल बाद मेरे राजनीति में आते ही और कांग्रेस की सरकार बनते ही चेहरे बदल – बदल कर मेरे विरुद्ध षड़यंत्र किए जा रहे हैं । मुझे किसी भी प्रकार की जांच से कोई परहेज नहीं है । अपने 13 साल के प्रशासनिक जीवन में मैंने जो कुछ किया है वह छत्तीसगढिया भाई – बहनों के साथ समर्पण भाव से किया है ।

ओपी चौधरी , भाजपा नेता

CG Basket

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

दुष्कर्म के आरोपित डॉक्टर को हाई कोर्ट से मिली अग्रिम जमानत

Tue Oct 22 , 2019
बिलासपुर । नईदुनिया प्रतिनिधि हाई कोर्ट ने पीड़ित के विशाखा कमेटी के समक्ष दिए बयान व पुलिस रिपोर्ट मे अंतर […]

You May Like