डॉक्टर अवकाश पर , ताला जड़ स्टॉफ हो गया था नदारद , केंद्र के बाहर हुआ प्रसव

पाली विकासखंड के चैतमा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का मामला

पीएचसी में ताला लगा स्टाफ ने गेट पर लिखा मोबाइल का नंबर

पत्रिका न्यूज

कोरबा . सुधार की कोशिश के बीच सरकारी अस्पतालसे एक और हैरान करने वाली खबर आई है । गेट ताला लगा होने से एक प्रसूता प्रसवगांव महिलाओं ने अस्पताल के बाहर कराया । _ _ _ मामला विकासखंड पाली चैतमा स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का है । गांवछबराहीपारा में रहनेवाली चन्दकली उस 26 साल को लेकर परिवार के सटम्य पसव कराने सोमवार कीसुबहलगभग 11 . 30 बजे चैतमा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे थे । केन्द्र के गेट पर ताला लगा हुआ था । उस पर अस्पताल की नसों का मोबाइल नंबर लिखा हआ एकनंबर पर परिवार के लोगों ने कॉल किया नंबर पर अस्पताल की एक नर्स ने बात की । चन्द्रकली के परिवार – को बताया कि उसकी ड्यूटी नहीं उसने ड्यूटी पर तैनात एक अन्य का नाम बताया । साथ ही उसने दूसरी नर्स को कॉल कर जानकारी देने की बात कही । सूचना के लगभग एक घंटे बाद ड्यूटी पर तैनात नर्स प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंची तब तक चन्द्रकली का प्रसव स्वास्थ्य केंद्र के बाहर हो चुका था जच्चा – बच्चा स्थिति सामान्य बताई गई है । उन्हें चैतमा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भर्ती किया गया है ।

10 बिस्तर का अस्पताल

चैतमा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में बिस्तर लगा हुआ है । मरीजों के लिए एक एमबीबीएस डॉक्टर और तीन नर्सों के अलावा अन्य स्टॉफ पदस्थापना है । इसके बाद भी लोगों को सुविधा नहीं मिल पा रही है ।

रंजना में भी अस्पताल की लापरवाही आ चुकी है सामने

कटघोरा के रंजना स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भी अस्पताल के स्टाफ की लापरवाही से जच्चा – बच्चा की मौत हो गई थी । इस मामले में दो लोगों को निलंबित किया गया था । इसके बाद भी स्थिति सुधर नहीं रही है

अवकाश पर थे डॉक्टर

बताया जाता है कि अस्पताल के डॉक्टर सोमवार को अवकाश पर अस्सिटेंड मेडिकल ऑफिसर पास प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रभार था । सोमवार को गणेश चतुर्थी वह अपने घर में गणेश स्थापना के लिए सुबह चले गए थे । अस्पताल में ताला लगाकर सभी स्टाफ भी चले गए थे । इस बीच चन्द्रकली को लेकर परिवार के सदस्य डिलीवरी कराने पहुंचे । हालांकि पाली के खंड चिकित्साधिकारी ने डॉक्टर के अवकाश पर होने की जानकारी इनकार किया है । उन्होंने यह भी दावा किया कि महिला की डिलिवरी स्वास्थ्य केंद्र के वार्ड में कराई ।

डॉक्टर के अवकाश पर होने की सूचना नहीं है । अस्पताल के वार्ड में डिलेवरी कराने की जानकारी स्टॉफ से मिली है । मौके पर मितानिन उपस्थित थी ।

सीएल रात्रे बीएमओ , पाली

ऑन कॉल अटेंड करते है केस

इधर , ग्रामीणों ने बताया है कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में अक्सर ताला लगा रहता है । अस्पताल की गेट पर स्टॉफ का नंबर चस्पा किया गया है । जरूरत पड़ने पर मरीज संबंधित नंबर पर कॉल करते हैं । इसके बाद अस्पताल के स्टॉफ केस को अटेंड करने पहुंचते हैं ।

मितानिन की उपस्थिति में महिलाओं ने कराया प्रसव

प्रसव पीड़ा से चन्द्रकली परेशान थी । परिजन डॉक्टर और नर्स के आने का इंतजार कर रहे थे । काफी देर इंतजार के बाद डॉक्टर और नर्स नहीं पहुंचे । तब गांव की महिलाओं ने अस्पताल की गेट पर चन्द्रकली का प्रसव कराया । चन्द्रकली ने एक बच्ची को जन्म दिया है , जो तीसरी संतान है । डिलेवरी के दौरान अस्पताल की नर्स भी उपस्थित थी ।

CG Basket

Next Post

पत्नी ने डाल लिया मिट्टी तेल तो पति ने लगा दी आग , पत्नी की हुई मौत

Tue Sep 3 , 2019
अपराधः विवाद में पूरा परिवार हुआ तबाह लोहे केसरिया को पड़ोसी को दिए जाने से हुआ था विवाद पत्रिका न्यूज […]