मंगला निवासी नेत्रहीन शिक्षक की 13 वर्षीय नाबालिग बेटी तीन जुलाई से गायब थी.जिसे खोजने के लिये पिता 4 जुलाई की रात म़े ही सिविल लाईन थाने में रिपोर्ट लिखवाई .पुलिस आई जी से भी मिले .पिता ने अपना शक पडोस में दुकान करने वाले धन्नू लाल चतुर्वेदी का नाम भी लिखवाया था.
सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका शुक्ला से संपर्क होने पर सिविल लाईन थाने और अन्य आवश्यक अधिकारियों से संपर्क किया .प्रियंका ने एक अपील भी जारी की.
आज वह बालिका सिविल लाईन पुलिस ने आरोपी धन्नू चतुर्वेदी के साथ बरामद कर लिया .जिससे यह मालुम हुआ कि वह अधेड व्यक्ति जो खुद चार बच्चों का पिता हैं वही इस बालिका को बहला फुसलाकर ले गया था. एसी आशंका है कि उसने उसके साथ शरीरिक सबंध भी स्थापित किये.

आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और बालिका को अभी सरंक्षण ग्रह में रखा गया हैं .कोर्ट के आदेश के बाद बच्ची को पिता को सोंप दिया जायेगा.
सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका ने सिविल लाईन थाने के प्रभारी कलीम खान की बच्ची को बरामद करने और सही दिशा में कार्यवाही के लिये प्रशंशा की .

**