चित्र नेशनल दस्तक

घटना उत्तर प्रदेश के उन्नाव की है. आरोप है कि क्रिकेट खेलने पहुंचे एक मदरसे के छात्रों को भला-बुरा कहते हुए कुछ युवकों ने कथित तौर पर ‘जय श्रीराम’ बोलने को कहा. मना करने पर उन्हें बैट से पीटा गया और भागने पर पथराव भी किया गया.

उन्नावः उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में एक मदरसे के छात्रों ने कुछ लोगों पर जय श्रीराम नहीं बोलने पर क्रिकेट बैट से पीटने का आरोप लगाया है.जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना गुरुवार को उन्नाव के सदर इलाके के जीआईसी ग्राउंड में हुई, जहां छात्र क्रिकेट खेल रहे थे. यहां कथित तौर पर दक्षिणपंथी समूह से जुड़े कुछ युवकों ने इन छात्रों से मारपीट की और भागने पर उन पर पथराव भी किया गया.घायल छात्रों का आरोप है कि उन्हें जय श्रीराम बोलने को मजबूर किया गया. सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्रों को इलाज के लिए भेजा. सीओ उमेश त्यागी ने बताया कि मदरसे के छात्रों को मेडिकल सहायता मुहैया कराई गई है.त्यागी ने बताया, ‘जामा मस्जिद के पास एक मदरसा है, जिसके छात्र जीआईसी ग्राउंड में क्रिकेट खेलने जाते हैं. गुरुवार को जब छात्र क्रिकेट खेल रहे थे तो कुछ लोगों से उनका विवाद हो गया. पीड़ितों की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया गया है. इस घटना में तीन छात्र घायल हुए हैं. सोशल मीडिया अकाउंट्स की मदद से आरोपियों की पहचान की गई है.’

उन्नाव के एसपी एमपी वर्मा ने बताया कि पुलिस जबरन जय श्रीराम के नारे लगवाने के आरोपों की जांच कर रही है, जिसकी पुष्टि जांच के बाद ही होगी.मालूम हो कि सदर कोतवाली क्षेत्र में दारुल उलूम फैज-ए-आम नाम का मदरसा है.मदरसे के मौलाना नईम खान के अनुसार, ‘गुरुवार दोपहर की नमाज के वक्त 10 से 15 बच्चे क्रिकेट खेलने के लिए जीआईसी ग्राउंड पहुंचे थे. यहां 3-4 युवक आए और बच्चों को भला-बुरा कहते हुए कथित तौर पर ‘जय श्रीराम’ बोलने को कहा. मना करने पर उन्हें बैट छीनकर पीटा गया. बच्चे बचकर भागे तो उन्हें पत्थर मारे गए. कुछ लड़कों को चोटें आईं हैं. लड़कों के कुर्ते भी फाड़ दिए गए. एक लड़के की साइकिल तोड़ दी गई.’शुरुआती जांच में हमला करने वाले तीन लड़कों की सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए पहचान की गई है. इनमें से एक की गिरफ्तारी भी कर ली गई है. ये एक कथित हिंदूवादी संगठन से बताए जा रहे हैं.मदरसा और जामा मस्जिद के अधिकारियों ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है और ऐसा न होने पर प्रदर्शन की चेतावनी दी है.

***