नई दुनिया बिलासपुर .

हाईकोर्ट ने पुलिस हिरासत युवक की संदिग्ध परिस्थिति में मौत के मामलों में सरकंडा पुलिस को केस डायरी व न्यायिक जांच की रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया है । साथ ही मामले को सुनवाई के लिए एक अगस्त रखा है .

सरकंडा पुलिस ने नवंबर 2016 को चांटीडीह निवासी छोटू उर्फ दीपक यादव को चोरी के संदेह में पूछताछ लिए हिरासत में लिया था । दो दिसंबर 2016 को सरकंडा पुलिस ने छोटू की मौत की सूचना उसकी मां उषा यादव को दी । उसे बताया गया कि रात में छोटू चलती जीप से कूदकर खेत की और भाग गया था । इस दौरान कुएं में गिरने से उसकी मौत हो गई । इसे लेकर उषा ने अधिवक्ता लवकुश साहू के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर मामले की स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराने की मांग की है । याचिका में कहा गया कि उसके बेटे को पुलिस ने तीन दिन तक हिरासत में रखकर मारपीट करने से उसकी मौत हो गई । बाद में कुंये से गिरने से मौत होने की कहानी बना दी गई .

मृतक के शरीर में जगह जगह चोट के निशान हैं । मामले में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई तक के आश्रितों को प्रतिपूर्ति दिलाने की मांग की गई है । याचिका में बुधवार को जस्टिस आरसीएस सामंत के कोर्ट में सुनवाई हुई । कोर्ट ने सरकंडा पुलिस को केस डायरी शासन को मामले की सिविल न्यायाधीश वर्ग एक द्वारा कराई । गई जांच की रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया है ।

**