हिरोली की कथित फर्जी ग्राम सभा की जांच आज .माओवादियों ने रास्ता रोका तो समाज सेवीयों ने कहा सुरक्षाकर्मियों की उपस्थित में बयान संदिग्ध .पंचायत सचिव के गोपनीय बयान पर भी उठाये सवाल .

पत्रिका ब्यूरो patrika . Comजगदलपुर .

अडानी ग्रुप को डिपॉजिट 13 आवंटित किए जाने को लेकर 2014 में हुई कथित फर्जी ग्रामसभा के मामले में दंतेवाड़ा जिला प्रशासन सोमवार को किरंदुल के हिरोली में ग्रामीणों के बयान लेगा । प्रशासन जांच दल कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच हिरोली पहुंचेगा .फोर्स हिरोली में दाखिल ना हो सके इसलिए माओवादियों किरंदुल से हिरोली पहुंच मार्ग कई जगह से काट दिया ताकि प्रशासन और फोर्स की गाड़ी गांव तक न पहुंच पाए । इस बीच समाज सेवी सोनी सोढ़ी ने कहा है कि फोर्स की मौजूदगी में ग्रामीणों का बयान लिया गया तो इसे दबाव में लिया गया बयान माना जाएगा । इसी तरह भाकपा नेता मनीष कुंजाम भी जांच में संयुक्त पंचायत संघर्ष समिति को शामिल नहीं किए जाने को लेकर विरोध जता चुके हैं । दंतेवाड़ा एसडीएम और जांच अधिकारी नूतन कंवर का कहना है कि जांच में पूरी पारदर्शिता बरती जाएगी ।

समान नाम वाले हर ग्रामीण का लिया जायेगा बयान .

कथिल फर्जी ग्रामसभा की जांच दंतेवाड़ा जिला प्रशासन को 28 जून तक पूरी करनी है । जांच की अहम कड़ी वे 107 ग्रामीण और पंचायत प्रतिनिधि हैं जिनके नाम ग्राम सभा के प्रस्ताव में उल्लेखित हैं । जिला प्रशासन को पंचायत सचिव से 2014 में हुई ग्राम सभा को जो रेकॉर्ड मिला है , उसमें ग्रामीणों के पते का जिक्र नहीं था । इसलिए समान नाम वाले सभी लोगों को बयान के लिए नोटिस दिया गया है ।

50सदस्यों वाली टीम कैंप लगाकर लेगी बयान

सोमवार को ग्राम हिरोली के पंचायत भवन सरपंच समेत 107 समान नाम वाले सैकड़ों लोगों के बयान लिए जाएंगे । इसके लिए प्रशासन ने । लगभग 50 लोगों की टीम बनाई है जिसमें प्रमुख रूप से एसडीएम दंतेवाड़ा , तहसीलदार बचेली । एआरआई , पटवारी , कम्प्यूटर ऑपरेटर गोंडी और हिंदी ट्रांसलेटर समेत आधा दर्जन वीडियोग्राफर , 2 जनरेटर , 3 से अधिक कम्प्यूटर और फोटोकॉपी मशीन के साथ कैंप लगाया जाएगा.

पंचायत सचिव का गोपनीय बयान लेने पर उठ रहे सवाल.

24 जून को मामले से जुड़े हिरोली के सभी पंचायत । प्रतिनिधि और ग्रामीणों के बयान लिए जाएंगे । इस बीच पंचायत सचिव का गोपनीय बखान जिला मुख्यालय में लिए जाने पर सवाल उठ रहे हैं । भाकपा नै मनीष कुंजाम पहले ही पंचायत सचिव बसंत नायक का बयान सार्वजनिक रूप से लेने की । मांग कर चुके हैं । कुजानने के कि पूरे मामले में सकी भूमिका संदिग्ध है ।.

**

CG Basket

Next Post

5. मसाला चाय कार्यक्रम में आज सुनिए शरद जोशी की कहानी "आम आदमी की पहचान "

Mon Jun 24 , 2019
मसाला चाय कार्यक्रम में आज सुनिए शरद जोशी की कहानी “आम आदमी की पहचान ”  सरकारी दफ्तरों में होने वाले […]