आज तमनार में 27 जून को महाजेंको के लिये होने वाली जनसुनवाई के विरोध में बड़ी संख्या में ग्रामीण सडक पर उतरे.कंपनी और प्रशासन की मिलीभगत के खिलाफ़ नारे लगाये. प्रभावशाली रैली निकाल कर तहसीलदार और थानेदार को लिखित में आपत्ति दर्ज की और मांग की कि यह जनसुनवाई तुरंत रद्द की जावे.

सीजीबास्केट यूट्यूब रिपोर्ट

रैली सुबह 10 बजे हुकराडीपा चौक से तहसील कार्यालय तक पहुची . रैली की सूचना ग्रामीणों जिला कलेक्टर , तहसीलदार और तमनार थाना प्रभारी को पहले ही दे दी थी .

महाराष्ट्र पावर जेनरेशन कंपनी की जनसुनवाई 27 जून को होगी । जनसुनवाई के खिलाफ विरोध कर रहे ग्रामीणों ने पुस्तैनी जमीन देने से इंकार कर दिया है । कंपनी को बसाने लिए जिले के 13 गांव उजाड़ने की तैयारी की रही है । ग्रामीणों का आरोप है कि कंपनी अपने स्वार्थ के लिए आदिवासी समाज की पहचान समाप्त करने की साजिश की जा रही है .

27 जून को प्रस्तावित जन सुनवाई के विरोध में पूरे गांव के लोग एक जुट हो गये हैं .पहले जब यही जनसुनवाई हुई थी तब कांग्रेस के अध्यक्ष और वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी पहुचे थे .अब ग्रामीण भूपेश बघेल से अपेक्षा कर रहे है कि वे पूर्व की तरह गांव के उजडऩे के खिलाफ़ हमारा साथ देगे.