आज किरंदुल में पहाड़ बचाने के आंदोलन में छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन सहित अनेक संगठनों के साथी शामिल हुए जिनमें आदिवासी नेता सोनी सोरी , छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन के संयोजक आलोक शुक्ला ,किसान नेता सुदेश टीकक्ष ,सामाजिक कार्यकर्ता अनुभव शौरघ ,पत्रकार तामेश्वर सिन्हा तथा अन्म प्रतिनिधि शामिल थे.

उन्होंने चोर दरवाजे से फर्जी ग्राम सभा के द्वारा अडानी को खदान खोदने की अनुमति देने के रमनसिंह सरकार के फैसले का तमाम आदिवासियों और जनसंगठनों के विरोध आंदोलन को अपना समर्थन दिया। अच्छी बात यह है कि आज ही छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने अडानी के खनन अनुमति को रद्द करने की घोषणा किया है।यह हजारों की संख्या में आंदोलन आदिवासियों की जीत है