जनसंगठनों के प्रतिनिधि पहुचे किरंदूल , बस्तर बचेगा तो छत्तीसगढ़ और देश बचेगा.

आज किरंदुल में पहाड़ बचाने के आंदोलन में छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन सहित अनेक संगठनों के साथी शामिल हुए जिनमें आदिवासी नेता सोनी सोरी , छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन के संयोजक आलोक शुक्ला ,किसान नेता सुदेश टीकक्ष ,सामाजिक कार्यकर्ता अनुभव शौरघ ,पत्रकार तामेश्वर सिन्हा तथा अन्म प्रतिनिधि शामिल थे.

उन्होंने चोर दरवाजे से फर्जी ग्राम सभा के द्वारा अडानी को खदान खोदने की अनुमति देने के रमनसिंह सरकार के फैसले का तमाम आदिवासियों और जनसंगठनों के विरोध आंदोलन को अपना समर्थन दिया। अच्छी बात यह है कि आज ही छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने अडानी के खनन अनुमति को रद्द करने की घोषणा किया है।यह हजारों की संख्या में आंदोलन आदिवासियों की जीत है

CG Basket

Next Post

India has lots of newspapers and lots of readers and one big journalism problem.

Tue Jun 11 , 2019
Share on Facebook Tweet it Share on Google Pin it Share it Email BUSINESS OF NEWS By Raksha Kumar JUNE […]

You May Like