Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में बीएसएफ के खिलाफ ग्रामीणों ने शिकायत की। कांकेर पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई। बांदे थाना क्षेत्र के ताड़बेली गांव के दो लोगों को नक्सली बताकर जेल भेजने का आरोप। ग्रामीणों ने कहा कि बार बार बीएसएफ कैंप बुलाकर किया जा रहा प्रताड़ित। नक्सलियों से जान का खतरा.

ग्रामीणों ने लिखा पत्र कांकेर एसपी को जिसमें विस्तार से शिकायत की है.

बी.एस.एफ/पुलिस प्रताड़ना,मारपीट व् ग्रामीण को नक्सली बनाकर जेल भेजने के खिलाफ शिकायत .

पत्र में लिखा है कि कीमती तेंदू पत्ता तोड़ाई के सीजन में हमारे गाँव ताडबायली के ग्रामीणों के साथ बी.एस.एफ.केम्प बन्दे , सीईओ के नेतृत्व में जवानों ने दिनाक 18/05/2019 दिन शनिवार,लगभग सुबह 10:00 बजे दल-बल के साथ रूडीगत प्रथा पारंपरिक ग्राम सभा की अनुमति के बैगर गाव में घुसकर शादी के 4 साल बाद,तीन साल की बच्ची कुमारी शिवानी की माँ होने के साथ-साथ 7 माह के गर्भ में होने के वावजूद .

(1) श्रीमती नीला उईके उम्र 23 वर्ष, उनके पति .

2., लालसू उईके,उम्र 29,दोनों पति-पत्नी को घर से जबरन उठा कर ये कहते हुए ले गये कि दोनों को वन्दे थाना ले जा रहे है !

नीला गर्भ से है , बोलने पर इसे अस्पताल में चेकअप करके दोनों को भेज देंगे कहा ! जब हम वान्दे थाना पहुचे तो पहले लालसू को आज ही छोड़ देंगे और नीला को आज थाने में ही रखेंगे, कल छोड़ देंगे कहा गया, पर बाद में दोनों को कल छोड़ देंगे कहा, दोनों को थानें से अस्पताल में चेकअप करने के बहाने सीधा बी.एस.एफ केम्प ले जाया गया ! हमे घर ले जाने के लिए कहा गया ! दुसरे दिन जब हम थानें गये तो उन दोनों को जेल भेज दिया कहा गया !

(3) बिरजू पिता पांडरा गोटा उम्र 26 वर्ष को धमकी देते हुए पेका कोवाची को बुलाने गये तो बोले, नहीं जाऊंगा बोलने पर, उनको जातिगत गली गलोच करते हुए एक थप्पड़ मारकर एक किलोमीटर दूर से दो बार पानी लाने को कहा गया !

(4) सत्तू पिता गिस्सा कवड़ो उम्र 25 वर्ष को उनके स्वर्गीय के नाम से बी.एस.एफ सीईओ वान्दे द्वरा कैम्प में बुलाकर बार-बार प्रताड़ित किया जा रहा है ! अगर पुलिस मुखबिर कह कर नक्सली उनकी हत्या कर दे तो जिम्मेदार कोन होगा !

(5) बिसाहू पिता दुंडा जुर्री उम्र 27 वर्ष,

(6) पेका पिता मेशो कोवाची उम्र 40 वर्ष,

(7) पान्दरा पिता डुगा मट्टामी उम्र 28 वर्ष,

(8) लालसू पिता रामसू पोयो उम्र 40 वर्ष,

क्रमक क्रमश: 5,6,7,8, को जितने भी आस-पास में नक्सलियों ने मुखबिरी कशक में हत्या किया है उनको पकड़कर नक्सलियों तक पहुचाने का काम बिसाहू, पेका, पान्दरा व लालसु ने किया है इन्हें भी जेल भेजा जायेगा बोलकर डरवा धमका कर प्रताड़ित किया गया !

नीला उईके के पेट में 7 माह का गर्भ.में पल रहे है बच्चे का क्या दोष जो उन्हें जन्म से पहले भी इतनी बड़ी सजा दी जा रही है , दुनिया का कोई भी कानून इस बात का इज्जत नहीं देता, और आम नागरिको को बी.एस.एफ व पुलिस द्वरा प्रताड़ना, मारपीट व ग्रामीणों को नक्सली बनाकर जेल भेजने का डर दिखया जाने के खिलाफ हमारे गाँव के आदिवासियों में भारी रोष ब्यप्त है!

अत: आपसे निवेदन है की इस घटना की जांच कराकर दोसी जवानो व सीईओ के खिलाफ एसी.एटी एक्ट के तहत् सक्त से सक्त कार्यवाही की जावे

स्थान – ताडबायली

पीड़ित ग्रामीणों के नाम व हस्ताक्षर

(1 )नडगू उईके

(2) जूरी  कोवाची (गोंडी गोली )

(3) बिरजू गोटा

(4) सत्तू कवाडो

(5) बिसाहू जुर्री

(6) पेका कोवाची

(7) पंडरा मट्टामी(

8) लालसू पोयो   

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.