मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिवमंडल ने कल रात माकपा के बिलासपुर जिले समिति के सदस्य और सामाजिक कार्यकर्ता नंद कुमार कश्यप व उनके परिवारजनों पर किये गए जानलेवा हमलों की तीखी निंदा की है और हमलावर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की है.

आज यहां जारी एक बयान में माकपा राज्य सचिव संजय पराते ने कहा है कि किसी गैर-राजनैतिक विवाद में भाड़े के गुंडों द्वारा राजनैतिक व्यक्तियों पर हमला कराया जाना बेहद संगीन मामला है. पार्टी ने आरोप लगाया है कि इन भड़ैतों को राजनैतिक और प्रशासनिक संरक्षण प्राप्त है, जो पैसे लेकर धनाढ्यों के पक्ष में गैर-कानूनी हरकतें करते रहते हैं. इन हमलावरों में डॉ. राकेश सहगल, गुलशन और तैयब गैंग की संलिप्तता सामने आई है, इन्हें शीघ्र गिरफ्तार किया जाए.

माकपा ने बिलासपुर जैसे शांतिप्रिय शहर में असामाजिक तत्वों के संगठित गिरोह द्वारा लगातार गैर-कानूनी कामों को अंजाम देकर, शहर की कानून-व्यवस्था और शांति के माहौल को बिगाड़ने पर चिंता व्यक्त की है और संगठित अपराध की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाने की मांग की है.