बिलासपुर
पिछले दिनों सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका शुक्ला के खिलाफ किसी महिला के नाम से शिकायत मानवाधिकार आयोग को की गई थी जिसमे अनर्गल आरोप लगाये गये थे . मानवाधिकार आयोग से यह शिकायती पत्र बिलासपुर एसपी के माध्यम से सिटी कोतवाली पहुचा .
यह सभी आरोप निराधार और अपमानजनक भी थे तथा प्रियंका के महिलाओं तथा मानवाधिकार के लिये काम करने से क्षुब्ध व्यक्तियों द्वारा परेशान करने के इरादे से लगाये गये थे .आज एक प्रतिनिधि मंडल एसपी से मिला और मांग की कि शिकायत के अनुसार जांच तो की ही जाये लेकिन शिकायत कर्ता को भी खोजा जाये तथा उसके भी बयान लिये जाये.
एसपी ने तुरंत सिटी कोतवाली से संपर्क किया तो उन्हें बताया गया कि इस नाम का कोई शिकायत कर्ता नहीं पाया गया ,किसी ने फर्जी नाम से यह पत्र भेज दिया है. इस पर एसपी ने केस फाईल करने को कह दिया .और यह भी कहा की पुलिस एसी स्थिति मे क्या कर सकती हैं. जनता के हित में काम करने वालों को एसी स्थिति का सामना करना ही पडता है.
प्रतिनिधि मंडल में ,आनंद मिश्रा ,नंद कश्यप ,लखन सुबोध ,रजनी सोरैन ,गायत्री सुमन.निकिता ,सोनिया ,दिव्या जायसवाल ,मनोज अग्रवाल , राधा श्रीवास, निलोत्पल.शुक्ला ,संपा सिकदार ,इंदु यादव ,तुषार बीके.तथा डा . लाखन सिंह आदि थे.
**