मामला: आईजी से हुई शिकायत तो सक्रिय हुए अधिकारी .

शकरगढ़ थाना क्षेत्र का मामला , आरोपियों पर पीड़िता व परिजन के साथ मारपीट का भी आरोप

पत्रिका.काम


अंबिकापुर. शंकरगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत शादी समारोह में गई एक किशोरी का अपहरण कर दो युवकों ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है । यही नहीं जब पीड़िता घटना की जानकारी अपने परिजनों को बताई , और परिजन ने पूछताछ की तो आरोपियों ने परिजन की भी जमकर पिटाई कर दी । पीड़ित परिवार घटना की शिकायत करने शंकरगढ़ थाना पहुंचे तो वहां भी उनकी फरियाद नहीं सुनी गई । पीड़ित परिवार का आरोप है कि थानेदार ने आरोपी पक्ष से समझौता करने की बात कहकर उन्हें वापस भेज दिया ।

जब पीड़िता को न्याय नहीं मिला तो पीड़िता अपने परिजन के साथ गुरुवार को अंबिकापुर पहुंचकर आइजी से मुलाकात की । पीड़ित परिवार ने आइजी को शिकायत पत्र सौंपकर आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर निष्पक्ष कारवाई करने की मांग की है । शंकरगढ थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव की 16 वर्षीय किशोरी 11 मई को गांव में एक शादी समारोह में गई थी । इसी दौरान किशोरी की मुलाकात उसके पहचान के युवक ग्राम खैराडीह निवासी धर्मेन्द्र यादव पिता रविंद्र यादव 24 वर्ष से हुई । युवक किशोरी को बहला – फुसलाकर अपने साथ बाहर लेकर चला गया । कुछ दूर जाने के बाद अनिल यादव पिता मुरारी यादव 22 वर्ष सुनसान जगह पर बाइक लेकर खड़ा था ।

पीड़िता का आरोप है कि इसके बाद दोनों युवक उसे जबरन बाइक में बैठाकर ग्राम पटोरा लेकर गए । वही अनिल यादव किशोरी को एक घर में लेकर गया और उसके साथ जबरन 2 दिनों तक दुष्कर्म करते रहे । पीड़िता ने जब विरोध किया और चीखने लगी तो आरोपी युवक उसे परिजन के घर छोड़कर फरार हो गए । पीड़िता ने परिजन को आपबीती सुनाई . तो परिजन आग बबूला हो गए पीड़िता के पिता और भाई आरोपियों से घटना की जानकारी लेने पहुंचे तो दोनों आरोपी और उनके पिता ने मिलकर पीड़िता के पिता और भाई की बेदम पिटाई की पीड़िता का आरोप है कि इस दौरान आरोपियों का 25 अन्य लोगों ने भी साथ दिया और पीड़िता की भी जमकर पिटाई की । वहीं जब पीडिता और उसके परिवार ने मामले की शिकायत संकरगढ़ थाने में की तो थानेदार ने शिकायत दर्ज करने से इंकार कर दिया..

आईजी से की एफआईआर दर्ज करने की मांग

गुरुवार को पीड़िता और उसके परिजन अम्बिकापुर पहुंचकर आईजी केसी अग्रवाल से मुलाकात की । इस दौरान पीडित परिवार ने आरोपियों सहित संकरगढ़ थानेदार के खिलाफ भी गंभीर आरोप लगाए । पीड़ित परिवार ने आज को शिकायत की कि थानेदार ने एफआइआर दर्ज नहीं की । थानेदार ने पीड़ित परिवार को आरोपी पक्ष से समझौता कर मामला को रफा दफा करने की बात कहकर उन्हें वापस भेज दिया । पीड़िता और उसके परिवार ने आइजी से मांग की है कि मामले की जांच उच्च अधिकारियों से करा कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कारवाई की जाए । आइजी ने पीड़िता को निष्पक्ष रूप से न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है ।

एडिशनल एसपी ने लिया बयान

आईजी केसी अग्रवाल के निर्देश के बाद बलरामपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशान्त कतलम संकरगढ़ थाने पहुँचे । यहाँ उन्होंने पीड़िता व परिजन का बयान लिया ।इसके बाद आगे की कार्यवाई की जाएगी।

पीड़िता व परिजन थाने नही आए थे। गुरुवार को थाने में उनका बयान लिया गया है। इसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।
प्रकाश राठौर,थाना प्रभारी,संकरगढ़