स्टाप डेम बना नहीं, डकार गए स्वीकृत लाखों रूपए

स्टाप डेम बना नहीं, डकार गए स्वीकृत लाखों रूपए

स्टाप डेम बना नहीं, डकार गए स्वीकृत लाखों रूपए

Not making stop dams, were approved Dakar worth millions

मोहसिन खान [ पत्रिका ]

Not making stop dams, were approved Dakar worth millions
9/22/2014 4:53:58 AM

रायगढ़। घरघोड़ा वन परिक्षेत्र के तीन बीट में स्टाप डेम बनाया जाना था। बकायदा इसके निर्माण की स्वीकृति भी मिल गई। इतना ही नहीं इसके लिए राशि का भी आहरण कर लिया गया। लेकिन मौके पर डेम का निर्माण नहीं हो सका। डेम निर्माण के लिए आई राशि का वन विभाग के अधिकारियों ने बंदरबांट कर शासन को लाखों रूपए का चूना लगा दिया है।
जनवरी 2014 में घरघोड़ा वन परिक्षेत्र को 50 लाख रूपए की राशि स्टाप डेम बनाने के लिए मिली थी। इसके लिए वन अधिकारियों ने स्थान भी चयनित कर लिया था। इसमे स्टाप डेम कंटगडीह के पीएफ कक्ष क्रमांक 1246, सुहाई में आरएफ 1273 व चनाडोंगरी क्षेत्र में बनाया जाना था। राशि आते ही घरघोड़ा के तत्कालीन रेंजर आरके पाण्डेय ने वाउचर बना कर विभाग से इसके निर्माण क लिए स्वीकृत राशि को निकलवा लिया।
इसमें जनवरी माह में कटंगडीह डेम के लिए 8 लाख 50 हजार 832 रूपए, चनाडोंगरी डेम के लिए 1 लाख 64 हजार 984 रूपए और सुआई डेम के लिए फरवरी माह में 13 लाख 13 हजार 713 रूपए आहरित किया गया, लेकिन रूपए निकाल कर राशि को डकार लिया गया और चयनित स्थलों में स्टाप डेम का काम पूरा नहीं कराया गया।
इसकी जानकारी घरघोड़ा के नवपदस्थ रेंजर आरके सिन्हा को लगने पर उन्होंने 24 अगस्त को लिखित में मामले की शिकायत डीएफओ से करते हुए जांच की मांग की है। बताया जा रहा है कि मामले में जांच भी शुरू हो चुकी है और शिकायत को सही पाया गया है। मामले का खुलासा होने के बाद इसमें सिर्फ सुहई में डेम का काम शुरू किया गया है।
नहीं है कोई मटेरियल
अधिकारियों का कहना है कि आहरित की गई राशि से डेम निर्माण के लिए ईट, छड़, सीमेंट व अन्य निर्माण सामग्री खरीदी गई थी सामग्री पूर्व रेंजर के पास है। जब चेक किया गया तो सामग्री नहीं थी।
सुहाई में डेम निर्माण काम शुरू किया गया है। कंटगडीह और चनाडोंगरी में डेम नहीं बना है। इसकी शिकायत डीएफओ से की गई है। इसमें जनवरी व फरवरी माह में राशि आहरित की गई है। इसमें जांच की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है।
जीके ठाकुर, एसडीओ, घरघोड़ा
मुझे इसकी शिकायत मिली थी। जिस पर रेंजर राजकुमार पाण्डेय को नोटिस जारी किया गया है। इसके बाद उन्होंने जवाब दिया है, लेकिन वह सत्य नहीं है। इस कारण उन पर जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है।

cgbasketwp

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account