इंद्रावती के लिए बढ़े आंदोलनकारियों के कदम नदी किनारे हर दिन चलकर पहुचेंगे चित्रकोट: पहले दिन उपनपाल पहुंची पदयात्रा , ग्रामीणों को आंदोलन से जोड़ने की कवायद.

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जगदलपुर पत्रिका .

बस्तर की प्राणदायिनी इंद्रावती को बचाने के लिए जमीनी स्तर पर हो रहे आंदोलन ने गति पकड़ ली है।
बुधवार को ओडिशा सीमा से लगे और इंद्रावती के किनारे बसे भेजापदर गांव से पदयात्रा का आगाज हुआ ।
इसमें सैकड़ों की तादात में जगदलपुरवासी शामिल हए । यात्रा का हिस्सा बनने लोग दंतेश्वरी मंदिर पहुंचे यहां से एक बस में सभी भेजापदर पहुंचे जहां से उपनमाल तक पद्मश्री धर्मपाल सैनी के नेतृत्व में पदयात्रा निकाली गई ।
चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष किशोर पारख और आदोलन समेत के मनीष मूलचंदानी ने बताया कि यात्रा हर दिन 5 से 8 किमी को होगी । इंद्रावती नदी के किनारे बसे गांवों से होते हुए यात्रा चित्रकोट तक जाएगी । अभी ये तय नहीं किया गया है कि यात्रा किस दिन चित्रकोट पहचेगी । माना जा रहा है कि 10 दिन में यात्रा पूरी हो जाएगी । यात्रा का मुख्य उद्देश्य नदी किनारे बसे लोगों को आंदोलन से जोड़ना और उन्हें नदी बचाने के लिए किए जा रहे प्रयासों के प्रति जागरूक करना है ।

80 साल की उम्र पार कर चुके सैनी बढ़ा रहे हौसला

बुधवार को पहले दिन की यात्रा का नेतृत्व पद्मश्री धर्मपाल सैनी ने किया । वे सबसे आगे रहे और अपने से छोटों को आगे बढ़ने की प्रेरणा देते दिखे । 80 की उम्र पार कर चुके सैनी बेहद तेजी से आगे बढ़ते रहे ।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

CG Basket

Next Post

यौन उत्पीडन पर सुप्रीम कोर्ट की ‘इन-हाउस कमेटी’ की रपट पर पी.यू.सी.एल. का बयान “न्याय पर एक हास्य-जनक आघात”

Thu May 9 , 2019
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins. मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीडन की शिकायत पर सुप्रीम कोर्ट की ‘इन-हाउस समिति’ की रपट पर पी.यू.सी.एल. द्वारा आज निम्नलिखित बयान जारी किया गया. The following Statement issued by the PUCL today on the Report of the […]

You May Like

Breaking News