जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर के ग्रामीण पी रहे आयरन युक्त पानी

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क patrika . cam

सुकमा , मुरतोंडा पंचायत को कमलापद गांव में पेयजल समस्याएं से ग्रामीण परेशान है । यहां सभी हैंडपंप में आयरन युक्त पानी निकलता है । जिसके कारण यहां ग्रामीणों को मजबूरन आयरन युक्त पानी पीने के लिए मजबूर है । सुकमा जिला मुख्यालय से महज 10 किमी दूरी पर बसा मुरतोय पंचायत का कमलापदर गांव जहाँ ग्रामीणों को ना प्रधानमंत्री आवास बन रहा है और ना ही जपला योजना के तहत गैस कनेक्शन मिला है । ग्रामणों ने बताया कि हमने कई बार इसके लिए आवेदन किया था । लेकिन आज तक हमको इसका लाभ नहीं मिला है । ग्रामणो का ने बताया कि यहाँ पर 35 परिवार रहते है । गांव में तीन हैंडपंप है । जिसमें दो ही उपयोग करने लायक हैं । गांव में पानी के लिए दिसत होती है । कई बार सरपंच सचिव को इसके लिए बोला लेकिन कोई सुनने तैयार नहीं है । गांव में बच्चों के लिए आँगनबड़ी भी नहीं है ।

आँगन बड़ी गांव से 2 किलोमीटर दूर पर है । हम इस कारण अपने बच्चों को वहाँ नही भेजते हैं गांव में स्कूल भी नहीं हैं यहाँ के बच्चे पास के दूसरे स्कूल में पड़ने के लिए जाते हैं । गांव में सभी परिवार खेती किसानी से ही अपने परिवार का जीवन यापन करते है ।

कृषि विभाग से गांव में 3 बोर कराया गया है । इसके अलावा अन्य किसानों ने अपने खर्चे पर खेती करने के लिए बोर कराया है । लेकिन गांव में लो ओलटेज के कारण बोर नहीं चल पाता है । गांव में बिजली का हमेसा आना जाना लगा रहता हैं एक बार लाइट चले जाने के बाद दो तीन दिनों तक नहीं आती है सुकमा मुख्यालय से इतने पास के बाद भी गांव के ग्रामीणो को शासन की मूलभूत योजनाओं और जरूरतों को पहुंचाने में प्रशासन विफल है । पर्वती ने बताया कि यहां पर पीने के पानी की समस्या है । तीनों बोरिंग में आयरन युक्त पानी निकलने से पीने के लिए दिक्कतें होती हैं ।

बोरिंग से पानी लाने के कुछ ही देर में पानी पीला पन दिखने लगा है । जिसके कारण पीने में दिक्कतें होती है । रामा ने बताया कि कृषि विभाग से बोर कराया गया । है । जिसका सौलर ठीक से काम नहीं करता । पानी भी नहीं चढ़ता है । कोई लाभ नहीं मिल रहा है .

पत्रिका .काम से आभार सहित  . चित्र और रिपोर्ट